कौशांबी। विद्युत वितरण निगम की नीतियों को लेकर कर्मचारी विरोध कर रहे हैं। बार-बार वार्ता के बाद भी कोई फैसला न होने पर कर्मचारियों ने वर्क टू रूल के अनुसार काम करने का फैसला लिया है। वितरण निगम के अवर व सहायक अभियंता ने सुबह नौ से पांच बजे तक नियमानुसार काम करने का फैसला किया है। शाम पांच बजे के बाद वह किसी प्रकार का विभागीय काम नहीं करेंगे। साथ ही सीयूजी भी नहीं उठाएंगे। 30 सितंबर को एमडी विद्युत वितरण निगम से वार्ता के बाद कर्मचारी आगे की योजना बनाएंगे।

विद्युत वितरण निगम से जुड़े जिले के 39 अवर व सहायक अभियंताओं ने वर्क टू रूल के अनुसार काम करना शुरू कर दिया है। सभी सुबह नौ बजे से शाम पांच बजे तक आने वाली समस्याओं का निदान करेंगे। फिर इसके बाद वह पूरी तरह से विभागीय दायित्वों से खुद को मुक्त कर लेंगे। सुबह की नौ बजे तक न तो उनको सीयूजी उठेगा और न किसी से काम के संबंध में वार्ता करेंगे।

कर्मचारियों का यह सिलसिला 30 सितंबर तक चलेगा। 30 सितंबर को विद्युत वितरण निगम के एमडी से संगठन के लोगों की वार्ता के बाद वह आगे की योजना पर विचार करेंगे। जूनियर इंजीनियर संघ जनपद सचिव विनम्र पटेल ने बताया कि कर्मचारी 48 ग्रेपे में विलोपन, किसी काम को करने का निर्देश देने से पहले उसके लिए जरूरी संसाधन, प्रमोशन की बाधा का समाप्त करना और चल रही जांच का जल्द निष्पादन करने जैसी मांग कर रहे हैं। इसको एमडी स्तर पर स्वीकृत नहीं मिलने से कर्मचारी नाराज हैं।

Edited By: Jagran