जासं, कौशांबी : सोमवार को कौशांबी व मंझनपुर ब्लाक के विद्यालयों का बेसिक शिक्षा अधिकारी ने निरीक्षण किया। जहां एक स्कूल में दो शिक्षक बिना सूचना के अनुपस्थित मिले। इसीलिए उनका वेतन रोकने का निर्देश दिया है। वहीं दूसरे में केवल ही मौके पर मिला। वे बच्चों के आने का इंतजार कर रहे थे। सुबह 11 बजे तक कोई भी बच्चा विद्यालय नहीं आया।

बीएसए अर¨वद कुमार ने पूर्व माध्यमिक विद्यालय बटबंधुरी के निरीक्षण के दौरान उनको वहां तैनात चार शिक्षकों में दो बिना सूचना के गायब मिले। सुबह 10:10 बजे तक विद्यालय में पंजीकृत 52 बच्चों में से 30 विद्यालय आ चुके थे। इस पर उन्होंने गायब रहे शिक्षकों के वेतन रोकने का निर्देश दिया। विद्यालय की सफाई व्यवस्था भी सही नहीं थी। इसको लेकर उन्होंने प्रधानाध्यापक से जवाब मांगा है। प्राथमिक विद्यालय में दो शिक्षकों में से एक प्रशिक्षण के लिए गए थे। विद्यालय पंजीकृत 92 बच्चों के सापेक्ष 50 बच्चों विद्यालय में उपस्थित थे। सुबह करीब साढे 10 बजे बीएसए प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मणपुर पहुंचे। वहां तैनात चार शिक्षक विद्यालय में बैठे मिले। जबकि वहां एक भी बच्चा नहीं आया था। करीब आधे घंटे तक वह वहां रुके भी रहे। बच्चों के न आने पर उन्होंने प्रधानाध्यापक को फटकर लगाते हुए इस तरह की स्थिति पर नियंत्रण रखने का निर्देश देते हुए जवाब मांगा है।

मंझनपुर ब्लाक के चक खोदायगंज पहुंचे। वहां विद्यालय में तैनात तीनों शिक्षक मौजूद मिले। 179 बच्चों के सापेक्ष मात्र 50 बच्चे ही विद्यालय में मौजूद मिले। इसको लेकर उन्होंने प्रधानाध्यापक से जवाब मांगा है। उन्होंने बताया कि बिना सूचना के गायब रहे शिक्षकों का एक दिन का वेतन रोकने का निर्देश दिया गया है। इसके साथ ही विद्यालय में गंदगी व बच्चों की उपस्थित आदि को लेकर प्रधानाध्यापक से जवाब मांगा गया है। दोबारा निरीक्षण में इस प्रकार की कमी मिली तो शिक्षकों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप