संसू, बारा : मंझनपुर तहसील क्षेत्र के विजिया चौराहा में सोते समय सर्पदंश से हुई बालिका की मौत के बाद शव दफनाने को लेकर ननिहाल में ग्रामीणों ने हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर पहुंचे नायब तहसीलदार ने ग्रामीणों को समझाते हुए आश्वस्त किया कि मृतका को ग्रामसभा की भूमि पर दफनाया जा रहा है। तब जाकर ग्रामीण माने।

विजिया चौराहा निवासी असलम खेती करके परिवार का भरण पोषण करता है। सोमवार की रात परिवार के लोग खाना खाने के बाद सो गए। उसकी 10 वर्षीय बेटी अजरा बानो अपने कमरे में जमीन पर सो रही थी। आधी रात को अचानक उसे सांप ने काट लिया। कुछ देर बाद उसकी हालत बिगड़ती देख परिवार वालों के होश उड़ गए। आनन-फानन में परिजन उसे स्थानीय अस्पताल लेकर पहुंचे, लेकिन कुछ देर बाद उसकी मौत हो गई। पिता असलम बेटी का शव दफनाने के लिए कब्रिस्तान लेकर गया लेकिन वहां पानी भरा होने के कारण शव को दफन करने के बजाए मृतका के ननिहाल रजईपुर निवासी मोहम्मद पहाड़ी के यहां पहुंचा। गमगीन माहौल में परिवार के लोग एक खेत में उसको दफन करने के लिए गड्ढा खोद रहे थे कि अचानक कुछ ग्रामीण मौके पर पहुंचे और खेत में लाश दफन करने का विरोध करते हुए हंगामा करने लगे। कारण पूछने पर लोगों ने कहा कि यह मंदिर की भूमि है। सूचना पर पहुंचे नायब तहसीलदार कृष्ण चंद्र मिश्र व सरायअकिल थानाध्यक्ष हेमंत मिश्र ग्रामीणों को समझाया। नायब तहसीलदार ने नापजोख करते हुए जमीन को ग्राम सभा की होने की बात कही और पुलिस की मौजूदगी में शव को दफन कराया।

Posted By: Jagran