नारा गांव की विवाहिता को ससुरालियों ने दहेज की खातिर बेरहमी से पीटा और घर से भगा दिया। मामले में पुलिस ने पति समेत आठ लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया। एसपी के आदेश पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने जांच शुरू कर दिया है।

मंझनपुर कोतवाली क्षेत्र के नारा निवासी होरीलाल ने अपनी बेटी संगीता देवी की शादी छह माह पहले फतेहपुर जनपद के अमांव खागा निवासी मनोज के साथ की थी। संगीता के मुताबिक, शादी के बाद से ही ससुरालियों ने उसे कम दहेज लाने को लेकर प्रताड़ित करना शुरू कर दिया। कई बार मायके वालों ने समझाया, लेकिन स्थिति जस की तस रही। एक जनवरी को ससुरालियों ने फिर से संगीता की पिटाई की और घर से भगा दिया। मायके पहुंची संगीता ने परिवारवालों को आपबीती सुनाई। शिकायत के बावजूद कोतवाली में कार्रवाई नहीं हुई। इस पर पीड़िता ने एसपी अभिनंदन से गुहार लगाई। पुलिस अधीक्षक ने महिला थानाध्यक्ष गायत्री सिंह को निर्देशित किया कि दोनों पक्षों को बुलाकर सुलह कराया जाए। काफी प्रयास के बाद भी पुलिस ससुरालियों को नहीं समझा सकी। इसके बाद संगीता की तहरीर पर गुरुवार को महिला थाना की प्रभारी ने पति मनोज, ससुर विदेश्वरी, सास मीना, जेठ कमलेश, दिनेश, देवर अप्पू, ननद सुमन व नंदोई ओमप्रकाश के खिलाफ केस दर्ज किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस