मूरतगंज : कोखराज थाना क्षेत्र के चंदवारी तिराहे के निकट बारातियों के वाहन ने फौजी की कार में टक्कर मार दी। विरोध करने पर उन्होंने फौजी को पीट दिया। उसके पास से मोबाइल व नकदी छीन ली। फौजी की सूचना पर पहुंची पुलिस ने कुछ लोगों को हिरासत में लिया है। फिलहाल उनसे पूछताछ हो रही है। मामले को लेकर फौजी ने अब तक कोई तहरीर नहीं दी है।

चित्रकूट जनपद के राजापुर थाना क्षेत्र के भारतेंदु निवासी नीरज कुमार पुत्र कैलाश सिंह फौजी हैं। वह कुछ दिनों पहले अवकाश पर घर आए थे। बुधवार को वह प्रयागराज जंक्शन से ट्रेन पकड़कर अपनी तैनाती स्थल जा रहे थे। जैसे ही उनकी कार कोखराज के चंदवारी चौराहे के निकट पहुंची। इसी बीच एक बारात वहां से गुजर रही थी। बारात को बसेड़ी गांव जाना था। आरोप है कि दोनों के वाहन आपस में टकरा गए। इसको लेकर बारातियों ने फौजी से मारपीट शुरू कर दी। उनके दो मोबाइल व बैग में रखी नगदी आदि छीन लिया। मामले की जानकारी फौजी ने पुलिस को दी। जानकारी पर पहुंची पुलिस ने कुछ बारातियों को हिरासत में ले लिया। पुलिस उनसे सामग्री को लेकर पूछताछ कर रही है। वहीं मामले को लेकर अब तक फौजी की ओर से कोई तहरीर नहीं दी गई। बालू डंप करने वाले आए निशाने पर : चायल तहसील क्षेत्र कई स्थानों में बालू का भंडारण किया गया है। कई स्थानों पर मानक से अधिक बालू डंप किया गया है। शिकायत पर मंगलवार को भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशालय ने तीन सदस्यीय टीम आई तो कई स्थानों पर क्षमता व मानक से अधिक बालू डंप मिली। टीम ने रिपोर्ट तैयार कर कार्रवाई के लिए संस्तुति की गई है। इससे बालू कारोबारियों में हड़कंप है।

विकास खंड नेवादा व चायल के कई स्थानों पर अवैध तरीके से बालू का भंडारण किया गया है। इसकी शिकायत एक सप्ताह पूर्व विकास खंड नेवादा के इमली गांव निवासी धर्मेद्र पांडेय ने भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशक रोशन जैकब से की थी। भूतत्व एवं खनिकर्म निदेशक के निर्देश पर मंगलवार को डीजीएम रामप्रकाश सिंह की अगुवाई में लखनऊ से तीन सदस्यीय आई। टीम के सदस्यों ने यमुना के तराई क्षेत्रों के दर्जन भर स्थानों में डंप बालू को जीपीएस के माध्यम से माप किया। चायल क्षेत्र के तिलगोड़ी, नेवादा, अमवा और गोविदपुर में क्षमता से बालू का भंडारण किया मिला। माना जा रहा है कि क्षमता से अधिक बालू का भंडारण करने वालों के खिलाफ जल्द कार्रवाई होगी।

Edited By: Jagran