जासं, कौशांबी : 11वीं कक्षा में पढ़ाई के लिए मन मुताबिक कालेज में दाखिला न कराने से नाराज छात्र परिवार वालों से झगड़े के बाद फंदे पर झूल गया। इससे उसकी मौत हो गई। सूचना पर पहुंची पुलिस ने स्वजन से पूछताछ के बाद कानूनी प्रक्रिया पूरी की। करारी के सादिकपुर सेमरहा निवासी सुग्गन खेती करते हैं। उनके 16 वर्षीय बेटे अनुज ने हाईस्कूल पास किया था। वह 11वीं कक्षा में करारी इंटर कालेज में दाखिला लेना चाहता था। जबकि परिवार के लोग उसे उखैया खास स्थित रियाज इंटर कालेज में दाखिला कराना चाह रहे थे। इसे लेकर आए दिन अनुज का अपने परिवार वालों से आए दिन झगड़ा हो रहा था। परिवार वालों का कहना है कि शुक्रवार की रात इसी बात को लेकर सुग्गन ने अनुज को फटकार लगा दी। यह बात उसे नागवार गुजरी। वह अपने कमरे में चला गया। परिवार के लोगों ने सोचा कि वह सो गया लेकिन इस बीच अनुज ने रस्सी का फंदा बनाकर मौत को गले लगा लिया। सुबह करीब साढ़े तीन बजे पिता की नींद खुली और उसने खिड़की से बेटे का शव फंदे पर लटकता देखा तो होश उड़ गए। रोने-चीखने की आवाज सुनकर परिवार वालों के अलावा ग्रामीण जाग गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से नीचे उतरवाया। घटना के बाद से परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है। पेड़ पर फंदे से लटकती मिली मजदूर का शव

संसू, टेढ़ीमोड़ : कल्यानपुर गांव के बाहर एक मजदूर का शव नीम के पेड़ में फंदे पर लटकता मिला। सूचना पर पहुंची कोखराज पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया और शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा। परिवार के लोग मानसिक रोग से परेशान होकर खुदकुशी बता रहे हैं।

कोखराज के कल्यानपुर निवासी 48 वर्षीय कमलेश मजदूरी करके परिवार का भरण पोषण करता था। शनिवार की सुबह गांव के कुछ लोग तालाब की ओर गए थे। इस बीच नीम के पेड़ पर फंदे पर लटका हुआ कमलेश का शव देखा तो होश उड़ गए। जानकारी होने पर रोते-बिलखते स्वजन आ गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को फंदे से नीचे उतारा। पूछताछ में परिवार वालों ने बताया कि कमलेश दो साल से मानसिक रोगी हो गया था। काफी इलाज के बाद भी उसे कोई राहत नहीं मिल रही थी। जबकि दवा-इलाज के चक्कर में वह आर्थिक तंगी का भी शिकार हो गया था। इसे लेकर वह काफी परेशान रहा करता था। शनिवार की सुबह वह शौच के बहाने निकला और खुदकुशी कर ली।

Edited By: Jagran