संवाद सहयोगी, कासगंज : थाना सिकंदरपुर वैश्य के गांव नगला बल्ली में प्रधान प्रत्याशी की गोली मारकर की गई हत्या का पुलिस ने पर्दाफाश किया है। मुख्य आरोपित को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से हत्या में प्रयुक्त तमंचा और तीन कारतूस बरामद किए हैं।

बीती 15 अप्रैल को नगला बल्ली निवासी प्रधान प्रत्याशी संदीप की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। घटना के संबंध में मृतक के भाई अमित पाल ने अज्ञातों के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया था। विवेचना के दौरान दुर्वेश, नेमपाल, वाशुदेव, धर्मेंद्र के नाम प्रकाश में आए थे। पुलिस आरोपितों की तलाश में जुटी थी। सोमवार को थानाध्यक्ष राजकुमार सिंह ने हत्या के मुख्य आरोपी दुर्वेश को गंगा पार बदायूं रोड से गिरफ्तार कर लिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि आरोपित के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त तमंचा व तीन कारतूस बरामद किए गए हैं। पूछताछ में आरोपित ने जमीनी रंजिश और मुकदमेबाजी को लेकर संदीप की हत्या करना स्वीकारा है। उन्होंने बताया कि आरोपित को पूछताछ के बाद जेल भेजा गया है। अन्य आरोपितों की तलाश की जा रही है। सराफा कारोबारी हुआ ठगी का शिकार: शहर के एक सराफा कारोबारी को ठग नकली हार रखकर सोने की छह अंगूठी ले गया। मामले में कारोबारी ने पुलिस को तहरीर दी है। ठग सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ है।

शहर के बिलराम गेट पर राजकुमार जाखेटिया की सर्राफे की दुकान है। सोमवार को दोपहर लगभग साढ़े बारह बजे एक युवक दुकान पर पहुंचा। उसने अंगूठियां खरीदने की बात कही। उसने अपने परिचय में दुकानदार को बताया कि वह नमैनी का रहने वाला है तथा आपकी दुकान के सामने अरविद माहेश्वरी से वह परिचित है। उसने अरविद माहेश्वरी से भी परिचित होने की हामी भरवा दी। फिर युवक ने छह सोने की अंगूठियां घर ले जाकर पसंद कराने के लिए ले ली और एक हार राजकुमार को दे दिया। जब शाम तक युवक नहीं लौटा तो उसकी जानकारी की गई। पता लगा कि वह नमैनी का रहने वाला भी नहीं है। उसने तीन दिन पूर्व अरविद के यहां से घी के टीन खरीदे थे। अरविद भी केवल इतना ही जानते थे। मामले में कारोबारी ने अज्ञात ठग के विरुद्ध पुलिस को तहरीर दी है। इंस्पेक्टर विनोद कुमार मिश्रा का कहना है कि तहरीर मिली है। पुलिस मामले की जांच करेगी। सीसीटीवी कैमरे से ठग की पहचान की जाएगी।

Edited By: Jagran