कासगंज, जासं। गंगा यात्रा को लेकर जिले में तैयारियां जोरों पर हैं। मंगलवार को जिले के प्रभारी मंत्री ने कलक्ट्रेट सभाकक्ष में अधिकारियों के साथ बैठक कर समीक्षा की। कछला गंगा घाट पर पहुंचकर वहां व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। प्रभारी मंत्री राष्ट्रीय खेलकूद प्रतियोगिता में जनपद के विजेताओं को प्रमाण पत्र भी वितरित किए।

कलक्ट्रेट सभागार में संपन्न बैठक में प्रभारी मंत्री अनिल शर्मा ने कहा गंगा यात्रा कार्यक्रम की गूंज लखनऊ तक सुनाई देनी चाहिए। यात्रा का उद्देश्य है कि गंगा की अविरल धारा को स्वच्छ बनाया जाए। इससे पर्यावरण भी स्वच्छ होगा। उन्होंने कहा कि जनसहभागिता के साथ गंगा यात्रा से भावनात्मक रूप से जुड़ना हमारा दायित्व है। हमें पूरी क्षमता से कार्य कर सरकार का सहयोग करना चाहिए। किसानों को जागरूक करें कि गंगा के किनारे स्थित गांवों में फलदार और औषधीय वृक्ष लगाएं। क्षेत्र को पॉलीथीन और पेस्टीसाइड से मुक्त किया जाए। जैविक खेती को बढ़ावा देने के लिए गौ आधारित खेती पर जोर देते हुए कहा कि सभी पूरी इच्छा शक्ति के साथ कार्य कर कार्यक्रम को सफल बनाएंगे।

डीएम सीपी सिंह ने कहा कि गंगा किनारे 34 गांवों के अलावा कछला घाट से लहरा घाट तक के मार्ग पर 14 स्वागत द्वार बनाए जाएंगे। गंगा यात्रा के दौरान स्वास्थ्य मेला, वृक्ष भंडारा, चित्र प्रदर्शनी, सांस्कृतिक कार्यक्रमों, खेलकूद प्रतियोगिताएं कराएं। गंगा तट स्थित सभी धाíमक, अध्यात्मिक एवं सांस्कृतिक केंद्रों को आस्था के साथ ही पर्यटन की गतिविधियों से जोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। गंगा यात्रा के दौरान पर्याप्त सुरक्षा व्यवस्था रहेगी। बैठक में विधायक सदर देवेंद्र सिंह राजपूत, देवेंद्र प्रताप सिंह, ममतेश शाक्य, भाजपा जिलाध्यक्ष केपी सिंह, एसपी सुशील घुले, सीडीओ तेज प्रताप मिश्र, एडीएम अजय कुमार श्रीवास्तव, सीएमओ डॉ. प्रतिमा श्रीवास्तव सहित जिले के सभी अधिकारी मौजूद रहे। तटवर्ती गांवों का किया निरीक्षण :

बैठक के बाद में प्रभारी मंत्री ने गंगा के तटवर्ती गांवों का निरीक्षण किया। न्यौली मिल के आसपास तथा गंगा किनारे के गांवों में साफ-सफाई पर पूरा ध्यान देने पर जोर देते हुए कहा कि तैयारियां समय से पूर्ण हों।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस