संवाद सूत्र, पटियाली (कासगंज) : पटियाली तहसील क्षेत्र में गंगा किनारे के कई ग्रामों में घुसा बाढ़ का पानी निकल गया है, लेकिन अब यहां दुश्वारियां हो गई हैं। दल-दल और गंदगी से मच्छर बढ़ गए हैं। संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ा है। ग्रामीण चितित हैं। एंटी लार्वा दवा और सफाई कराई जाने की मांग की है।

बीते सप्ताह बाढ़ का पानी तटवर्तीय ग्रामों में जा घुसा था। अब यह पानी आबादी से निकल चुका है, लेकिन गांवों में दुश्वारियां बढ़ गई हैं। मुजफ्फरनगर, शहबाजपुर, दतलाना, नगला जगमोहन, नगला खिमाई सहित दर्जनों ग्रामों से बाढ़ का पानी निकल जाने के बाद यहां दल-दल और गंदगी हो गई है। हालत यह है कि मच्छरों का प्रकोप बढ़ गया है। मच्छरों के बढ़ जाने से ग्रामीण संक्रमण को लेकर चितित हैं। उन्हें चिता सता रही है कि कहीं डेंगू व अन्य संक्रमण गांव के लोगों को अपनी चपेट में न ले ले। ग्रामीणों ने स्वास्थ्य विभाग एवं जिला प्रशासन से मांग की है कि गंगा के किनारे के इन ग्रामों में विशेष सफाई अभियान चलाया जाए। एंटी लार्वा दवा के छिड़काव के साथ-साथ स्वास्थ्य टीम को भेजकर लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कराए जाने की मांग की है।

------------------------

गांव में मच्छरों का प्रकोप तेजी के साथ बढ़ रहा है। इससे संक्रमण का खतरा हो सकता है। गांव में सफाई अभियान चलाया जाए, एंटी लार्वा दवा का छिड़काव कराया जाए।

- रामदास निवासी नगला जगमोहन

---------------------------------

इस समय जिले में डेंगू और बुखार तेजी से फैल रहा है। बाढ़ उतर चुकी है। गांव में सफाई अभियान एवं मच्छररोधी दवा के छिड़काव की जरूरत है। - रामभरोसे, निवासी नगला खिमाई

----------------------------------

ग्राम प्रधानों को एंटी लार्वा की दवा दे दी गई है। उनके द्वारा छिड़काव कराया जाएगा। यदि कहीं रोगी होने की सूचना मिलेगी तो टीम भेजकर परीक्षण कर दवाएं दी जाएगी। - एसपी सिंह, एसीएमओ

Edited By: Jagran