कासगंज, संवाद सहयोगी : शहर में विद्युत आपूर्ति के हालात सुधर नहीं रहे हैं। लोग शिकायत कर रहे हैं, लेकिन नतीजा शून्य है। केबल के वजन से वर्षों पुराने पोल झुक गए हैं। उक्त पोल पानी के कारण गलकर क्षतिग्रस्त हो गए हैं। विभाग इन्हें नहीं बदल रहा है। अधिकारियों को शायद बड़े हादसे का इंतजार है।

शहर में जगह-जगह वर्षों पुराने विद्युत पोल केबल के वजन से झुक गए हैं या फिर वे पानी के कारण गल गए हैं। यह पोल कभी भी बड़े हादसे का कारण बन सकते हैं। क्षेत्रीय लोगों की शिकायतों के बावजूद भी विभाग इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। इंटरनेट मीडिया पर भी लगातार लोग समस्याओं को उठा रहे हैं। मौखिक एवं लिखित रूप से विभागीय अधिकारियों के संज्ञान में भी समस्या लाई जा चुकी है। इसके बाद भी सुधार नहीं हो रहा है। गली सत्तार बैंड, गंदा नाला पुलिया नंबर चार, पांच, छह, सूत की मंडी, गली मनोटा, सोरों गेट एवं बिलराम गेट इलाकों में बड़ी संख्या में ऐसे पोल हैं। गली सत्तार बैंड में घर के सामने विद्युत पोल वर्षों पुराना है। केबल के वजन से यह झुक गया है। मकान की छत पर कभी भी गिर सकता है। वाहनों के आवागमन में भी दिक्कत हो रही है। शिकायत के बाद भी कोई सुनवाई नहीं है।

- रामभरत गौड़, स्थानीय निवासी गंदे नाले क्षेत्र की कई गलियों में विद्युत पोल पूरी तरह गल गए हैं या फिर झुक गए हैं। क्षेत्रीय लोगों ने विद्युत विभाग को कई बार शिकायत की। फिर भी समस्या का समाधान नहीं हुआ है। विभाग को बड़े हादसे का इंतजार है।

- आशीष कुमार कुशवाह, स्थानीय निवासी काफी प्रयासों के बाद बदला पोल

दुर्गा कालोनी में पानी के कारण विद्युत पोल गल गया था। आसपास के लोगों ने इस मामले की जानकारी विभाग को लिखित एवं मौखिक रूप से कई बार दी। इंटरनेट मीडिया कै माध्यम से जब यह जानकारी भाजपा नेता गौरी शंकर शर्मा को हुई तो उन्होंने विभाग के अधिशासी अभियंता को जानकारी दी। इसके बाद भी विद्युत पोल नहीं बदला। जब उन्होंने प्रशासनिक अधिकारियों से इसकी शिकायत की तब कहीं जाकर विद्युत पोल बदला जा सका। विद्युत पोलों से संबंधित मामला संज्ञान में आया है। जल्द ही शहर के जर्जर विद्युत पोल बदलवाए जाएंगे।

- पीएम प्रभाकर, एसई विद्युत

Edited By: Jagran