कासगंज, जागरण संवाददाता : कासगंज में अवैध कार्यों को सरकारी दफ्तरों के मुलाजिम ही संरक्षण दे रहे हैं। सहावर गेट पर युवाओं को नशे की लत लगाने की शिकायतों पर सदर विधायक पहुंचे तो ड्रग इंस्पेक्टर का चालक ही टिचर की बिक्री कर रहा था। सदर विधायक ने मौके पर कोतवाली पुलिस को बुलाकर इसे सौंप दिया। लेकिन कई घंटे गुजरने के बाद भी पुलिस ने मुकदमा दर्ज नहीं किया है। पुलिस एवं ड्रग इंस्पेक्टर मामले को एक दूसरे पर टाल रहे हैं।

सहावर गेट पर कई दिन से अवैध रूप से टिचर की बिक्री की शिकायतें मिल रही थी। टिचर में 80 फीसद अल्कोहल होता है। सदर विधायक देवेंद्र प्रताप सिंह अपने सहयोगियों के साथ पहुंचे तो बेसमेंट में एक दुकान के अंदर से इसकी बिक्री हो रही थी। यहां पर टिचर की शीशी के पांच कार्टून रखे हुए मिले। मौके पर मिले युवक ने अपना नाम शैलेंद्र एवं खुद को ड्रग इंस्पेक्टर का चालक बताया। विधायक ने पुलिस को मौके पर बुलाकर अवैध टिचर की शीशी के साथ में आरोपित को भी पुलिस के सुपुर्द कर दिया।

----------

24 घंटे बाद भी कार्रवाई नहीं :

सदर विधायक द्वारा खुद मौके से टिचर की अवैध बिक्री पकड़ने के बाद भी कार्रवाई के नाम पर इस मामले को घुमाया जा रहा है। थाना कोतवाली में 24 घंटे बाद भी इस मामले में ड्रग इंस्पेक्टर की तरफ से कोई तहरीर नहीं दी गई है। इंस्पेक्टर कासगंज राजीव सिरोही का कहना है कि इस मामले में पुलिस को कार्रवाई का हक नहीं है। ड्रग इंस्पेक्टर के सुपुर्द पूरा मामला कर दिया है। ड्रग इंस्पेक्टर रमेश चंद्र यादव का कहना है कि मेरा इस कारोबार से कोई ताल्लुक नहीं है। आरोपित हमारा चालक है इसलिए हमारा नाम घसीटा जा रहा है। इसकी जांच कराई जाएगी।

------------

जिले में ड्रग इंस्पेक्टर द्वारा अवैध रूप से टिचर (अल्कोहल) बिकवाया जा रहा है। हमें शिकायतें मिली तो हम पहुंचे। वहां उनका चालक ही टिचर बेचते हुए मिला। हमने उसे पुलिस को सौंप दिया। जिले के आला अधिकारियों को भी इससे अवगत करा दिया है। इसके बाद भी पुलिस ने अभी तक कोई कार्रवाई नहीं की है। जिले में अवैध नशे का कारोबार करने वाले अधिकारियों की हम ऊपर तक शिकायत करेंगे।'

-देवेंद्र राजपूत

विधायक सदर

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस