संवाद सहयोगी, अमांपुर : विकास खंड अमांपुर की ग्राम पंचायत जाटऊ अशोकपुर का गांव मुनीर नगर अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। 100 परिवारों की आबादी वाला गांव होने के बावजूद प्रधान और जनप्रतिनिधि इस गांव की जन समस्याओ से अंजान है।

गांव को जाने वाले मुख्य मार्ग पर बारिश से जगह-जगह गड्ढे हो गए है। जलभराव व कीचड़ के चलते लोगो का गांव में निकलना भी दूभर हो गया है। गांव के बुजुर्ग और बच्चे सड़क से निकलने से कतराने लगे है। बुजुर्गों के साथ बच्चे कीचड़ व जलभराव में गिरकर चोटिल हो जाते है। मुनीर नगर गांव के ग्रामीण नारकीय जीवन जीने को मजबूर है। इस गांव की सभी सड़कों की हालत बद से बदतर है। सफाई कर्मचारी भी कभी सफाई करने नहीं आते। इस गली के लिए आने वाले गांव के अन्य रास्ते भी हैं, लेकिन सबकी हालत जर्जर है। किसी भी जनप्रतिनिधि द्वारा विकास के लिए कोई प्रयास भी नही किए गए। और न ही इस गांव की ओर मुड़कर देखा है। ग्रामीण योगेश कुमार कहते हैं जनप्रतिनिधि इसी गांव के रहने वाले हैं, मगर इसके बाद भी गांव का विकास नहीं हुआ है। जनता 2019 के चुनाव में वोट नहीं डालेगी। चुनाव बहिष्कार कर विरोध जताएंगे।

Posted By: Jagran