मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

कासगंज, जागरण संवाददाता। अभी राजनैतिक दलों के प्रत्याशी तय नहीं हुए हैं। मगर प्रशासन की रणनीति तैयार हो गई है। तीनों विधानसभा क्षेत्रों के लिए टीमें गठित कर दी हैं, जो हर गतिविधि पर नजर रखेंगी। जिलाधिकारी चंद्र प्रकाश सिंह ने चुनाव आचार संहिता का पाठ पढ़ाते हुए कहा कि अधिकारी ईमानदारी और समयबद्धता के साथ चुनाव आयोग के अधीन काम करें। चुनाव की हर गतिविधि पर नजर रखें।

सोमवार को कलक्ट्रेट सभागार में उडनदस्ता टीमों, स्टेटिक टीम, वीडियो निगरानी टीम और लेखा टीमों के साथ बैठक करते हुए डीएम ने कहा कि चुनाव कार्य समयबद्धता के साथ में व्यवस्थित ढंग से संपन्न कराए जाने हैं। निर्वाचन के दौरान धन बल का प्रभाव रोकने के लिए कासगंज, अमांपुर और पटियाली में गठित वीडियो सर्विलांस टीमों से कहा कि संवेदनशील घटना के साथ सार्वजनिक रैलियों की वीडियोग्राफी करा रिपोर्ट दें। वीडियो निगरानी टीमें व्यय से संबंधित मामलों और आचार संहिता से संबंधित मामलों में विशेष सतर्कता बरतें। आचार संहिता के पालन के लिए हर टीम में अधिकारी एवं कर्मचारी के साथ पुलिस बल भी मौजूद रहेगा। डीएम ने कहा हर थाने पर स्टेटिक सर्विलांस टीम रहेगी। इसमें मजिस्ट्रेट के साथ में उपनिरीक्षक, हैड कांस्टेबल, आरक्षी रहेंगे। बैठक में अपर जिला मजिस्ट्रेट योगेंद्र कुमार, वरिष्ठ कोषाधिकारी संदीप कुमार सहित निर्वाचन कर्मी एवं समस्त टीमों में तैनात अधिकारी, कर्मचारी उपस्थित रहे।

अधिकारी-कर्मचारी मोबाइल से भी खीचेंगे फोटो : डीएम ने फ्लाइंग स्क्वॉयड के रूप में गठित नौ टीमों को विशेष निर्देश देते हुए कहा कि हर रोज रिपोर्ट को अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं। कहीं से भी आचार संहिता उल्लंघन की सूचना मिले तो तत्काल वहां पर पहुंचे। वीडियोग्राफी कराते हुए प्रभारी कार्रवाई की जाए। डीएम ने कहा कि अधिकारी एवं कर्मचारी अपने पास एंड्रायड फोन अवश्य रखें। ताकि मौके की लोकेशन के साथ वीडियोग्राफी एवं फोटो तथा अन्य सूचनाओं का आदान-प्रदान हो सके।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप