जासं, कासगंज: जिले में आए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा में भारी चूक हुई। तकनीकी खामी के चलते हेलीपैड पर हेलीकाप्टर न उतरा तो पायलट ने समीप के ही खेत पर उड़नखटोला उतार दिया और सीएम के खेत में उतरने पर तो अफसरों की सांस फूल गई। दौड़ते अफसर पसीना-पसीना हो गए।

मुख्यमंत्री का हेलीकाप्टर सुबह 10:50 बजे हेलीपैड की ओर आता दिखाई दिया। यहां हेलीकाप्टर को पायलट ने कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय के समीप बने हेलीपैड पर उतारने की कोशिश की। लेकिन पायलट को यहां उड़नखटोला उतारना असुरक्षित लगा। इस पर उसने फिर हवा में ही राउंड लिया, लेकिन दोबारा कोशिश में भी हेलीकाप्टर नहीं उतर सका। फिर अधिकारी आसमान की ओर देखने लगे। इस बीच हवा में घूमता हुआ हेलीकाप्टर हेलीपैड से लगभग पांच सौ मीटर दूरी की ओर उतरता दिखाई दिया। अब तो अफसरों के हाथ-पांव फूल गए। वह आनन फानन में खेतों के रास्ते जहां हेलीकाप्टर उतर रहा था, उस खेत की ओर दौड़ लिए। जब तक अफसर पहुंचते तब तक हेलीकाप्टर उतर चुका था। अब तो न तो अफसरों को अपने अर्दली का ध्यान था और न ही अधीनस्थों का। आनन-फानन में अफसर व भाजपा नेता भागते हुए सीएम के समीप पहुंचे और उनकी सांसें फूली हुई थी और सिर से पसीना टपक रहा था। जब हेलीकाप्टर उतरा तो उस समय वहां पुलिस फोर्स भी नहीं था। ऐसे में सुरक्षा में भारी चूक थी। रस्सी से बनाई बेरीकेटिंग

खेत में हेलीकाप्टर उतरा, ग्रामीण उसी खेत की ओर दौड़ पड़े। पुलिस ने आनन-फानन में रस्सी का घेरा बनाकर खेत के चारों तरफ बेरीकेटिंग बनाई गई और भीड़ को रोकने की कोशिश की गई। यहां तक की कुछ ग्रामीणों को पुलिस ने धक्के मारकर भगाया। अफसरों से पहले पहुंचे ग्रामीण

प्रशासन द्वारा की गई बेरीकेटिंग के बाहर खेतों की ओर भीड़ जमा थी। सुरक्षा का पूरा इंतजाम कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय में था। जब हेलीकाप्टर खेत में उतरा तो आस-पास खेतों में जमा ग्रामीण अफसरों से पहले वहां पहुंच गए। करा रहे है जांच

अचानक मुख्यमंत्री का कार्यक्रम आया, वह लखनऊ में थे। वहीं से अफसरों को निर्देश दिए थे। देर शाम वापस आए, तब तक हेलीपैड बन चुका था। मामले की जांच की जा रही है कि क्या कारण रहा कि हेलीपैड पर हेलीकाप्टर नहीं उतर सका।

-- आरपी सिंह, डीएम मिनट-दर-मिनट कार्यक्रम

10:40 बजे --सीएम का हेलीकाप्टर हवा में घूमा

10:57 बजे -- खाली पड़े खेत में हेलीकाप्टर उतरा

11:10 बजे -- मुख्यमंत्री पीड़ित परिवार से मिले

ृ11:20 बजे -- पीड़ितों को राहत राशि को चैक दिए

11:30 बजे -- कस्तूरबा गांधी विद्यालय पहुंचे

11:50 बजे -- सीएम का काफिला हेलीकाप्टर की ओर गया

12:00 बजे -- उडनखटोले ने सोरों की ओर उड़ान भरी

1:00 बजे -- सीएम समीक्षा बैठक कर रहे थे

2:00 बजे -- सीएम लखनऊ के लिए रवाना हुए

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस