कासगंज, संवाद सहयोगी : हमारा शहर स्वच्छता में इंदौर जैसा हो। स्वच्छता सर्वेक्षण में प्रथम पायदान तक पहुंचे। इसके लिए आम नागरिक को जागरूक होना होगा। नगर पालिका को भी कार्ययोजना तैयार कर कवायद करनी होगी। सामाजिक संगठन भी यदि अहम भूमिका निभाएंगे तो निश्चित सफलता मिलेगी और शहर स्वच्छता सर्वेक्षण में महत्वपूर्ण स्थान पा सकेगा।

इस वर्ष स्वच्छता सर्वेक्षण में सदर नगर पालिका ने कुछ पायदान ऊपर उठकर स्थान बनाया, लेकिन वह सम्मानजनक स्थान नहीं पा सकी। बीते वर्ष 239वीं रैंक मिली थी। इस वर्ष उसे 211वीं रैंक मिली। शहर इंदौर बने और स्वच्छता सर्वेक्षण में वह पहले पायदान पर पहुंच जाए। इसके लिए आम लोगों को जागरूक होना होगा। शहर इंदौर ऐसे ही पहले पायदान पर नहीं पहुंचा। सरकारी व्यवस्थाओं के साथ-साथ स्थानीय लोगों की जागरूकता और सहयोग का परिणाम है जो बीते पांच साल से स्वच्छता सर्वेक्षण में वह पहले पायदान पर है। यदि लोग जागरूक हों और कूड़ा जहां-तहां न डालें और स्वच्छता अभियान के दिशा निर्देशों का पालन करें, साथ ह लोगों को जागरूक करने के लिए सामाजिक संगठन भी भूमिका अदा करें तो निश्चित ही शहर स्वच्छ बनेगा। यह है नगर पालिका की योजना

- मुख्य बाजारों में कराई जाएगी रात को सफाई

- मुहल्ला निगरानी समितियों का लिया जाएगा सहयोग

- जेई की अध्यक्षता में गठित होगी चार सदस्सीय समिति

- वार्ड बार प्रतिदिन सफाई का लिया जाएगा फीडबैक

- डोर-टू-डोर कूड़ा उठाने की व्यवस्था को बनाया जाएगा प्रभावी

- लोगों की जागरूकता के लिए सामाजिक संगठनों का भी लिया जाएगा सहयोग केवल सरकारी व्यवस्थाओं के भरोसे शहर को स्वच्छ नहीं बनाया जा सकता। आम लोगों को सहयोग करना होगा। घरों का कूड़ा नीयत स्थान और समय पर ही घर से बाहर निकालान होगा।

- अश्वनी चतुर्वेदी, सह संयोजक महा अभिभावक संघ स्वच्छता का स्वास्थ्य से सीधा संबंध है। गंदगी से बीमारियां फैलती हैं। बस्तियों में लोग जागरूक हों, जहां-तहां कूड़ा न फेंके। प्रतिबंधित पालीथिन का पूरी तरह बहिष्कार करें।

- अखिलेश अग्रवाल, नगर अध्यक्ष व्यापार मंडल सामान्यत: लोग गंदगी के लिए पालिका को जिम्मेदार ठहराकर अपनी जिम्मेदारी को नहीं समझते हैं। जबकि आम लोगों की जिम्मेदारी है कि शहर को स्वच्छ बनाने में पालिका की व्यवस्थाओं में सहयोग करें।

- जितेंद्र कुमार वाष्र्णेय, नगर अध्यक्ष उद्योग व्यापार मंडल पालिका को अपनी कार्ययोजना प्रभावी ढंग से लागू करनी चाहिए। लोगों को भी अपेक्षित सहयोग करना चाहिए। सड़कों पर कूड़ा न डाले, नालियों में पालीथिन न डाले, अपनी जिम्मेदारी को समझें।

- राजेश अग्रवाल, पूर्व जिलाध्यक्ष सपा व्यापार सभा नगर पालिका की स्वच्छता को लेकर चलाई जा रही कई योजनाएं त्योहारी सीजन में प्रभावी हो गई थीं। उन्हें पुन: प्रभावी ढंग से लागू किया जाएगा। नई व्यवस्था के तहत प्रतिदिन वार्ड बार सफाई का फीडबैक लिया जाएगा। जागरूकता के लिए मुहल्ला निगरानी समितियों का सहयोग लिया जाएगा कि स्वच्छता सर्वेक्षण में कासगंज नगर पालिका का बेहतर प्रदर्शन हो सके। इसके लिए आम लोगों का सहयोग अपेक्षित है।

- धर्मराज सिंह, ईओ मैं भी स्वच्छता प्रहरी

आम लोगों को चाहिए कि वह जिस तरह से अपने घर को स्वच्छ रखते हैं, उसी तरह शहर को स्वच्छ बनाने में नगर पालिका का सहयोग करें। जिससे अपना शहर भी स्वच्छता के लिए पूरे देश में जाना जा सके। केवल आवश्यकता है थोड़ी सी जागरूकता की और सकारात्मक सोच की। शहर हमारा है इसे स्वच्छ रखना भी हम अपनी जिम्मेदारी समझे। पालिका द्वारा स्वच्छता के लिए दिए गए निर्देशों का पालन करें।

- देवेंद्र राजपूत, सदर विधायक

Edited By: Jagran