कासगंज, संवाद सहयोगी : बर्ड-फ्लू के चलते प्रदेश के साथ जिले में भी अंडे, मुर्गी, मुर्गा के बाहर से लाने पर रोक लगी थी। शासन के निर्देश के बाद गुरुवार को जिले में यह रोक हटा दी गई है। अब बाहर से मुर्गा, मुर्गी व अंडे लाए जा सकेंगे।

देश में बर्ड-फ्लू के मामले सामने आए और प्रदेश के कानपुर चिड़ियाघर में मरे पंक्षियों में बर्ड-फ्लू के लक्षण मिले। इसके बाद सभी जिलों में बाहर से अंडा, मुर्गा, मुर्गी लाने पर बैन लगा दिया गया था। जिले में भी सरकार के इस आदेश का पालन किया जा रहा था। जिलाधिकारी सीपी सिंह के निर्देश पर जिले से जुड़ी फर्रुखाबाद, बदायूं, एटा, अलीगढ़, हाथरस जनपदों की सीमाओं पर चौकसी बढ़ गई थी। मंगलवार को प्रदेश सरकार ने यह प्रतिबंध हटा लिया। वहीं, जिले में गुरुवार को जिलाधिकारी सीपी सिंह ने मुर्गा, मुर्गी, अंडे बाहर से लाने पल लगे प्रतिबंध को हटा लिया है। अब इससे जुड़े कारोबारी बाहर से यह उत्पाद ला सकेंगे। जिलाधिकारी ने पशु पालन विभाग को सतर्कता बरतने के निर्देश दिए है। गुरुवार को जिलाधिकारी सीपी सिंह के आदेश पर अंडे, मुर्गा, मुर्गी के बाहर से लाए जाने के प्रतिबंध को हटा दिया है। बर्ड-फ्लू को लेकर सतर्कता बरती जा रही है। जिले में अभी तक बर्ड-फ्लू का कोई मामला सामने नहीं आया है।

-सीवीओ एके सागर पक्षी मरने की सूचना पर पहुंचे सीवीओ

संस, कासगंज: क्षेत्र के गांव लोहर्रा में एक पक्षी मृत पाए जाने पर ग्रामीणों ने मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी एके सागर को फोन द्वारा सूचना दी। लोगों को आशंका थी कि कही पक्षी की मौत बर्ड-फ्लू से न हुई हो। जानकारी मिलने पर सीवीओ टीम के साथ गांव लोहर्रा पहुंचे और मृत पक्षी को साथ लाए हैं। सीवीओ का कहना है कि पक्षी की मौत मौसम के कारण हुई है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप