जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : फास्टैग व्यवस्था लागू होने के करीब ढाई माह गुजरने के बाद भी बारा टोल प्लाजा पर अव्यवस्थाएं हावी हैं। न केवल कैशलेन बल्कि फास्टैग लेन पर भी वाहन स्वामियों को जाम की समस्या से जूझना पड़ रहा है जबकि कैश लेन के हालात और भी खराब हैं। वहीं टोल प्रबंधन की उदासीनता के चलते कर्मी एंबुलेंस लेन से वाहनों को निकाल रहे हैं। रविवार को टोल पर जाम के कारण वाहन स्वामियों को घंटों समय बर्बाद करना पड़ा।

कैशलेस व्यवस्था को प्रभावी बनाने के साथ ही वाहन स्वामियों को जाम, ईधन की बचत व प्रदूषणरहित वातावरण देने के लिए सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय की ओर से सभी वाहनों को फास्टैग करने के निर्देश जारी किए गए थे। व्यवस्था लागू होने के करीब ढाई माह गुजरने के बाद भी बारा टोल प्लाजा पर स्थितियां सामान्य नहीं हो सकी हैं, जिससे न केवल कैश लेन बल्कि फास्टैग लेन पर भी वाहन स्वामियों की जाम की समस्या से जूझना पड़ रहा है। रविवार दोपहर कानपुर-अकबरपुर व अकबरपुर-कानपुर जाने वाली लेन पर वाहनों की लंबी कतारें लगी रही, जिससे वाहन स्वामियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। जाम के कारण लोगों का घंटो समय टोल पर ही बर्बाद हो गया। वहीं कई वाहन स्वामियों की टोल कर्मियों से बहस भी हुई, लेकिन वाहन स्वामियों के लाख प्रयास के बाद भी टोल कर्मी उदासीन बने रहे, जिससे दोनों ओर करीब आधा किलोमीटर लंबी वाहनों की कतारें लगी रहीं। वाहन स्वामियों को राहत देने के लिए बारा टोल प्लाजा पर दोनों ओर दो-दो कैश लेन छोड़ी गई थी, लेकिन हाईवे अथारिटी के निर्देश पर गत दिवस से एक-एक लेन कम कर दी गई। इससे भी अव्यवस्था की स्थितियां रहीं। जबकि इमरजेंसी स्थिति के लिए बनी एंबुलेंस लेन में कर्मी तैनात होने के बावजूद भी लेन से सामान्य वाहन भी निकलने रहे। इससे अफरा-तफरी का माहौल रहा। हाईवे अथारिटी के निर्देश पर दोनों ओर एक-एक लेन कैश के लिए कर दी गई है, जाम की स्थिति की जानकारी नहीं हैं।

मनोज शर्मा, जीएम बारा टोल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस