संवाद सहयोगी, डेरापुर: थाना क्षेत्र के बिहारी में हाईवे किनारे ढाबे पर छापामारी कर पुलिस ने गैस रीफि¨लग करते दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक युवक रीफि¨लग किट लेकर फरार हो गया। वैन व कार से पुलिस ने भरे व खाली समेत 11 गैस सिलेंडर बरामद किए हैं। पकड़े गए युवकों से पूछताछ के आधार पर ढाबा संचालक की पत्नी समेत चार पर मुकदमा दर्ज किया है।

राष्ट्रीय राजमार्ग-2 के किनारे स्थित कई ढाबों पर गैस सिलेंडरों में रीफि¨लग का अवैध कारोबार होता है। गैस टैंकरों से मोबाइल किट के जरिए गैस सिलेंडर रीफि¨लग की जाती है। कमाई वाले अवैध कारोबार में कई लोग शरीक है। इसकी भनक थाना पुलिस को कुछ दिन पूर्व ही लगी थी। इस पर सुरागरशी शुरू की गई थी। मंगलवार देर रात बिहारी में हाईवे किनारे एक ढाबे पर गैस रीफि¨लग की सूचना पुलिस को मिली। इस पर थाना पुलिस ने टीम बनाकर छापामारी की। हालाकि पुलिस के पहुंचने से पहले की चालक गैस टैंकर लेकर निकल गया। अलबत्ता मौके से एक वैन व कार में दो कामर्शियल समेत कुल दस सिलेंडर पुलिस ने बरामद कर दो युवकों को दबोच लिया। जबकि उनका एक साथी रिफि¨लग किट लेकर मौके से भाग निकला। प्रभारी एसओ अरुण कुमार ने बताया कि रात डेढ़ बजे छापामारी की गई। पकड़े गए नेहरू नगर, अकबरपुर निवासी ओमजी उर्फ सौरभ पुत्र संतोष तथा भीखापुर, औरैया निवासी विकास उर्फ अंश पुत्र नरेंद्र ने पूछताछ में बिहारी स्थित ढाबा संचालक सुरेश चंद्र फौजी की पत्नी सीमा यादव की संलिप्तता की स्वीकरोक्ति की है। इसी आधार पर आवश्यक वस्तु अधिनियम तथा बरामदगी की धाराओं में तीन नामजद व एक अज्ञात समेत चार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। उन्होंने बताया कि मारुति वैन ओमजी की है। विकास की कार में सभी चार गैस सिलेंडर खाली बरामद हुए। गिरफ्तार दोनों आरोपितों को जेल भेजा जा रहा है।

Posted By: Jagran