संवाद सूत्र, सरवनखेड़ा : गजनेर थाना क्षेत्र के एक गांव में आर्थिक तंगी से परेशान होकर युवक ने फांसी का फंदा लगाकर जान दे दी। परिवार बंटाई पर खेत लेकर जीवन यापन कर रहा है।

सरवनखेड़ा के मजरा बिराहिमपुर गांव निवासी किसान सियाराम कुशवाहा के 21 वर्षीय पुत्र विमल उर्फ गोरेलाल कुशवाहा सोमवार सुबह 10 बजे करीब बंटाई पर लिए लाही के खेत में कटाई करने गया था। करीब एक घंटे बाद उसकी बहन पूनम व पूजा वहां पहुंची तो भाई नजर नहीं आया। उन्होंने पास में तलाश तो देखा कि ट्यूबवेल के पास ही पाकड़ के पेड़ पर रस्सी के सहारे फांसी पर शव लटक रहा था। रोते हुए बहनें घर पहुंची और पूरी घटना बताई। इससे मां माया, भाई कन्हैयालाल व बाकी स्वजन का रोकर बुरा हाल हो गया। मृतक के पिता के पास पांच बिस्वा जमीन है। इस जमीन में सियाराम के ही सात भाई भी हिस्सेदार हैं, कहने को जमीन है पर हिस्सा नाम मात्र का है। आर्थिक तंगी से वह परेशान रहता था और इसी के चलते जान दी। चौकी इंचार्ज ज्ञान प्रकाश पांडेय ने बताया कि आर्थिक तंगी के चलते जान देने की आशंका है।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप