संवाद सूत्र, मुंगीसापुर: दुर्घटनाओं में क्षतिग्रस्त हुए कस्बे के ओवर ब्रिज के ऊपर लगी लाइटों के पोल की समय से मरम्मत कार्य न कराए जाने के कारण करीब एक माह से कुछ ही लाइटें जलती हैं। अधिकांश की रोशनी गुम है। हालात यह हैं कि हाईवे का यातायात पूरी तरह से इससे खतरे में पड़ गया है। लोगों को परेशानी हो रही है। वाहन चालकों के साथ स्थानीय व राहगीरों के अलावा गश्त पर लगी पुलिस को भी असुविधा महसूस हो रही है।

कस्बे के लोगों का कहना है कि टोल फ्री नंबर पर भी उन्होंने सभी लाइटों के न जलने की समस्या के बाबत शिकायत दर्ज कराई थी कितु अभी तक इनकी मरम्मत कराने के लिए विभागीय अधिकारियों ने सुधि नहीं ली है। इटावा-चकेरी हाईवे पर वाहन चालकों के अलावा स्थानीय व राहगीरों को रात्रि के समय ओवरब्रिज के ऊपर बेसहारा मवेशी या अन्य किसी खराब खड़े वाहन होने में असुविधा महसूस न हो इसलिए ओवरब्रिज व अंडरपास के ऊपर जगह-जगह पर लाइटों को लगवाया गया था। लाइटों के जलने से देर रात आवागमन करने वाले राहगीरों को सुविधा महसूस होती है। रात में कई बार हाईवे के ऊपर बेसहारा मवेशियों के झुंड वाहन चालकों को दूर से दिखाई दे जाते हैं। हाईवे के ऊपर लगी लाइटें आए दिन खराब होने के अलावा आधी अधूरी जलने से व्यवस्थाओं पर प्रश्नचिह्न लग जाता है। सभी लाइटें न जलने से सर्वाधिक वाहन चालकों को असुविधाएं महसूस होती हैं। वहीं स्थानीय दुकानदार व कस्बा वासियों को भी लाइटों के जलने से काफी सहूलियत महसूस होती है। लाइटों के लगने के बाद आए दिन खराबी होने के चलते लोगों में आक्रोश फैला हुआ है। करीब एक किलोमीटर से अधिक दूरी तक कस्बे में हाईवे प्रशासन द्वारा एक सैकड़ा से अधिक लाइटें लगवाई गई हैं। सभी लाइटों के जलने पर हाईवे दूधिया रोशनी से नहाता है। निर्माणदायी संस्था के सीपीएम पीयूष कटियार ने बताया कि जल्द ही लाइटों की मरम्मत का कार्य कराया जाएगा।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस