संवाद सहयोगी, बिल्हौर : थानाक्षेत्र के गांगूपुर गांव में दो दिन से लापता युवक का शव बुधवार बंद मकान के अंदर कुएं में पड़ा मिला। पुलिस ने फायर ब्रिगेड की सहायता से शव को कुएं से बाहर निकलवा कर छानबीन शुरू की। गांगूपुर गांव निवासी अंबरीश कटियार (48) खेतीबाड़ी करता था और घर में छोटे भाई अश्वनी के साथ रहता था। अंबरीश की पत्नी की पच्चीस वर्ष पूर्व मौत हो गयी थी और अश्वनी की पत्नी भी मायके जाने के बाद नहीं लौटी थी। इसके चलते घर में केवल दोनों भाई ही रहते थे। अश्वनी ने बताया कि मंगलवार दोपहर खेत से लौटकर घर आया तो पड़ोसियों ने भाई के शराब के नशे में होने की जानकारी दी। घर बंद होने के कारण वह भाई की आसपास खोजबीन करता रहा लेकिन कहीं पता नहीं चला। बुधवार को रिश्तेदारी में भी पता लगाया। गुरुवार को ग्रामीणों के साथ सीढ़ी के सहारे घर के अंदर घुसा। तलाश करने पर बरामदे में बने सूखे कुएं में उसका शव पड़ा दिखाई दिया तो पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पुलिस बल के साथ पहुंचे इंस्पेक्टर ने जांच पड़ताल कर कुएं में जहरीली गैस की आशंका पर फायर ब्रिगेड को मौके पर बुलाया। फायर ब्रिगेड के जवानों ने कुएं में पानी डालकर रस्सी के सहारे शव बाहर निकाला। इंस्पेक्टर ने परिजनों व ग्रामीणों से पूछताछ की। परिजनों ने अधिक नशे में होने के चलते कुएं में गिरने से युवक की मौत होने की आशंका जाहिर की। इंस्पेक्टर ज्ञान ¨सह ने बताया कि परिजनों एवं ग्रामीणों ने युवक के शराब व गांजा का नशा करने व दिमागी संतुलन सही न होने की जानकारी दी है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर जांचकर कार्रवाई की जायेगी।

Posted By: Jagran