संवाद सहयोगी, भोगनीपुर : गेहूं केंद्रों पर आखिरी दिन होने को लेकर असमंजस की स्थिति रही और किसान अपने गेहूं की बिक्री को लेकर परेशान रहे। मलासा ब्लाक की साधन सहकारी समिति रायरामापुर, अरहरियामऊ व कैलई में संचालित सरकारी गेहूं क्रय केंद्रों पर किसानों ने हंगामा किया। केंद्र प्रभारी तक से जमकर बहस हुई। किसी तरह से लोगों को शांत कराया गया।

मलासा ब्लाक की साधन सहकारी समिति रायरामापुर में पीसीयू की ओर से संचालित सरकारी गेहूं क्रय केंद्र पर छह जून से गेहूं की खरीद बंद चल रही है। मंगलवार को आखिरी दिन भी गेहूं की खरीद न होने पर केंद्र पर गेहूं बेचने आए किसानों ने हंगामा किया। थनवापुर के ओमकार सिंह, बरगवां के सतेन्द्र तिवारी, कुटरा के धीरेन्द्र सिंह, जगम्मनपुर के नरेंद्र कुमार आदि किसानों ने बताया कि हम लोगों ने केंद्र पर गेहूं बेचने के लिए एक माह पूर्व पंजीकरण कराया था तथा एक पखवारा पूर्व ट्रैक्टर-ट्राली में गेहूं लादकर केंद्र पर ले आए थे। केंद्र प्रभारी अभी तक गेहूं खरीदने का आश्वासन देते रहे और अब पता नहीं खरीद होगी कि नहीं। क्रय केंद्र प्रभारी शैलेन्द्र प्रताप सिंह ने बताया कि बारदाना के अभाव छह जून से खरीद बंद कर दी गई थी। कुछ दिन बाद बारदाना तो मिल गया, लेकिन विभागीय बेवसाइट पर बारदाना की फीडिग न हो पाने के कारण किसानों का गेहूं नहीं खरीदा जा सका है।

इसी ब्लाक की साधन सहकारी समिति अरहरियामऊ मे पीसीएफ की ओर से संचालित सरकारी गेहूं क्रय केंद्र पर भी मंगलवार को सभी किसानों के गेहूं की खरीद नहीं पाने पर टुटई खान के आलोक कुमार, बहरई के गणेश शंकर, अकोढ़ी के अश्वनी कुमार, टुटईचांद के अनूप कुमार, अंगदपुर के देवेंद्र कुमार आदि किसानों ने केंद्र प्रभारी शिवमोहन पाल के सामने हंगामा किया और गेहूं खरीदने का दबाव डाला। केंद्र प्रभारी शिवमोहन पाल ने बताया कि केंद्र पर करीब 300 बारदाना रखा है। इस बारदाना पर किसानों के गेहूं की खरीद की जा सकेगी। मलासा ब्लाक की साधन सहकारी समिति

कैलई में पीसीएफ की ओर से संचालित गेहूं क्रय केंद्र पर भी किशोरपुर के सुरेंद्र कुमार,जलालपुर के सौरभकुमार, कलेनापुर के सूबेदार, बम्हनौती के अमित कुमार व मुलायम आदि किसानों की गेहूं की खरीद नहीं हो सकी। क्रय केंद्र प्रभारी मनोज कुमार अवस्थी ने बताया कि बारदाना खत्म हो जाने से सभी किसानों के गेहूं की खरीद नहीं की जा सकी।

Edited By: Jagran