संवाद सहयोगी,चौबेपुर:चौबेपुर कस्बा में नई बाजार के पास शुक्रवार की दोपहर कंटेनर की टक्कर से बाइक सवार किशोर की मौत हो गई। जबकि साथ जा रहा चचेरा भाई घायल हो गया। हादसे के बाद पुलिस द्वारा शव कब्जे में लेने पर गुस्साए स्वजन व गांव वालों ने जीटी रोड जाम कर दो वाहनों के शीशे तोड़ डाले। बाद में सीओ बिल्हौर फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे और लाठियां पटक कर जाम खुलवाया। करीब एक घंटे तक जीटी रोड पर आवागमन बाधित रहा।

चौबेपुर के सुजानपुर निवासी प्रेम नारायण यादव के चार पुत्रों में सबसे छोटा पुत्र 17 वर्षीय अनुज यादव क्षेत्र स्थित एक फैक्ट्री में कैंटीन चलाता था। वह शुक्रवार को चचेरे भाई अनूप के साथ बाइक से कस्बा में मोबाइल खरीदने आया था। यहां से मोबाइल खरीदने के बाद वह कुछ आगे बढ़ा था तभी कानपुर की ओर से आ रहे कंटेनर ने टक्कर मार दी। कंटेनर के पहिये के नीचे आने से अनुज की मौके पर ही मौत हो गई। सूचना पर स्वजन व गांव वाले पहुंचे। मौके पर पहुंची पुलिस के शव को कब्जे में लेने पर हंगामा शुरू हो गया। स्वजन व ग्रामीणों ने जीटी रोड जाम कर वाहनों पर पथराव शुरू कर दिया। हंगामें के चलते पुलिस कुछ देर के लिए मौके से हट गई। ग्रामीणो ने जीटी रोड जाम कर दिया। करीब एक घंटे बाद सीओ बिल्हौर राजेश कुमार फोर्स लेकर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने जाम लगाए लोगों का लाठियां पटक कर खदेड़ा। जिसके बाद जाम खुल सका। सीओ बिल्हौर राजेश कुमार ने बताया कि दुर्घटना करने वाले ट्रक व उसके चालक को पकड़ लिया गया है। पिता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जा रही हैं। इसके साथ ही रोड जाम कर उपद्रव करने वालों को चिह्नित कर उनके खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।

पुलिस पर लाठियों से पीटने का आरोप

हादसे के बाद शव उठाने के दौरान जब स्वजन ने वाहनों पर पथराव शुरू किया तो थाना पुलिस ने हल्का बल प्रयोग किया। मृतक किशोर के पिता ने आरोप लगाया कि हादसे की खबर पाते ही घटनास्थल पर पहुंची महिलाएं व स्वजन को पुलिस ने लाठियों से पीटा। जिससे गांव के लोग आक्रोशित हो गए। थाना प्रभारी कृष्ण मोहन राय ने बताया कि हादसे के बाद गंभीर हालत के चलते किशोर व उसके चचेरे भाई को अस्पताल ले जाया गया था। स्वजन ने दो वाहनों पर पथराव कर दिया।

नीचे का फुटपाथ बना हादसे का कारण

नई बाजार के पास जीटी रोड काफी ऊंची है जबकि फुटपाथ नीचे हैं। अक्सर ओवरटेक के दौरान हादसे होते हैं। शुक्रवार को भी हादसे का मुख्य कारण फुटपाथ ही रहा। बताया गया कि सड़क ऊंची होने के कारण दो पहिया वाहन चालक चार फीट गहरा फुटपाथ होने के कारण वाहन नीचे नहीं कर पाते हैं। जिससे हादसे होते हैं।