संवाद सूत्र, मूसानगर : हिचकोले खाते वाहनों को देख कर नहीं लगता कि यह मुगल रोड है। किसी गांव की छोटी सी सड़क से भी गुजरी दशा इस इस सड़क की हो चुकी है। देखने में तो यह सड़क कम गड्ढों वाला मार्ग लगता है। इसे देख कर पता ही नहीं चल पाता कि गड्ढों में सड़क है या सड़क पर गड्ढे।

मुगल रोड में जगह-जगह गड्ढे व मुगल रोड के किनारे घरों का गंदा पानी भरा रहने से आम नागरिकों के आवागमन में परेशानी हो रही है। मूसानगर में मुगल रोड मंडी गेट के सामने से लेकर मां मुक्तेश्वरी मंदिर गेट के सामने मुगल रोड पर कई जगह गड्ढे हो गए हैं। गड्ढों में इस समय वर्षा का पानी भरा है। यहां गिर कर और फिसल कर राहगीर रोजाना गिरते दिखाई दे रहे हैं। मूसानगर में ही मुगल रोड के किनारे दोनों ओर बनी नालियों की साफ सफाई ना होने से घरों का गंदा पानी भी सड़क के दोनों ओर भरा रहता है। चौड़ी सड़क होने के बावजूद भी सड़क पानी भरने से सिकुड़ गई है। यहां के निवासी विजय कुमार, संजय सिंह, फरीद अहमद आदि का कहना है कि लॉकडाउन के बाद सड़कों पर ट्रकों एवं अन्य वाहनों की आवाजाही बढ़ने के चलते मुगल रोड पर जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। उन्हीं गड्ढों में भरा पानी जब उनमें चार पहिया वाहन का पहिया पड़ता है तो पानी राहगीरों के ऊपर गिरता है। पीडब्ल्यूडी के जेई संदीप कुमार ने बताया कि मेरे संज्ञान में है, जल्द प्रयास करके सड़क के गड्ढों को ठीक करा देंगे।

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस