जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : अकबरपुर ब्लाक के पुर गांव में सरकारी राशन दुकान की जांच में कोटेदार के पुत्र का पात्र गृहस्थी कार्ड बना मिला। वहीं एक माह पूर्व उसकी शादी होने और चार यूनिट का कार्ड देखकर जांच टीम भी अवाक रह गई। जांच टीम ने कार्रवाई के लिए रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को दिये जाने की बात कही है।

संपूर्ण समाधान दिवस में पुर गांव के कार्ड धारकों ने कोटेदार पर राशन वितरण में घटतौली व अनियमितता की शिकायत की थी। गुरुवार को अकरबपुर तहसीलदार राजीव उपाध्याय व नायब तहसीलदार अर्चना अग्निहोत्री ने गांव पहुंच कर राशन दुकान की जांच की। कार्ड धारकों ने बताया कि कोटेदार कैलाश नारायण घटतौली करता है। प्रति कार्ड एक किलो कम राशन देता है। विरोध करने वालों को अपशब्द कहता है। कार्ड संख्या समेत कोटेदार के पुत्र ओंमकार का पात्र गृहस्थी कार्ड बना होने का साक्ष्य दिया। पड़ताल में एक माह पूर्व ओमकार का विवाह होने के बावजूद चार यूनिट का कार्ड मिलने की पुष्टि होने पर अधिकारी भी अवाक रह गए। तहसीलदार ने बताया कि कई कार्ड धारकों ने संयुक्त बयान दिया है। खाद्यान्न स्टाक व वितरण पंजिका कोटेदार ने नहीं कराई। कोटेदार के घर में राशन रखा मिला, तय स्थान पर दुकान नहीं मिली। जांच रिपोर्ट कार्रवाई की संस्तुति के साथ एसडीएम को भेजी जा रही है।

By Jagran