कानपुर देहात, जेएनएन। सवर्ण आरक्षण और ईवीएम के विरोध में इटावा-कानपुर हाईवे पर जाम लगाए प्रदर्शनकारियों से पुलिस की तीखी झड़प हुई। गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों पर पथराव कर दिया। पथराव में सीओ अकबरपुर, नायब तहसीलदार समेत पांच लोग घायल हो गए। स्थिति अनियंत्रित होते देख पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर हवाई फायरिंग की और लाठी चार्ज कर सभी को हाईवे से खदेड़ दिया। इस दौरान बीस मिनट तक हाईवे पर यातायात ठप रहा। देर शाम तक पुलिस ने संविधान बचाओ संघर्ष समिति के जिलाध्यक्ष आघू, अकबरपुर निवासी फौजी अजय कुमार समेत एक दर्जन प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया था। 

हवाई फायरिंग, रबर बुलेट और आंसू गैस 

संविधान बचाओ संघर्ष समिति व बहुजन क्रांति मोर्चा के कार्यकर्ता लाठी, डंडे और कुल्हाड़ी से लैस होकर मंगलवार दोपहर तकरीबन एक बजे बारा टोल प्लाजा पहुंचे और हाईवे जाम कर दिया। वे सवर्ण आरक्षण का फैसला वापस लेने और ईवीएम की बजाय बैलेट पेपर से लोकसभा चुनाव कराए जाने की मांग कर रहे थे। जब पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने जाम खुलवाने का प्रयास किया तो प्रदर्शनकारियों ने पथराव शुरू कर दिया। इससे कई अधिकारी घायल हो गए। स्थिति बेकाबू होती देख अधिकारियों ने लाठी चार्ज कर दिया। पथराव बंद कराने के लिए पुलिस ने हवाई फायरिंग और रबर बुलेट चलाने के साथ आंसू गैस के गोले भी छोड़े। इसके बाद ही स्थिति सामान्य हो सकी।

Posted By: Nawal Mishra

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस