संवाद सहयोगी, डेरापुर: कस्बे के गुढ़ा देवी श्याम बिहारी महाविद्यालय में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का तीन दिवसीय शिविर के अंतिम दिन सोमवार को संघ प्रचारकों ने कार्यकर्ताओं को शारीरिक व बौद्धिक स्तर मजबूत करने और देश भक्ति का भाव जागृत करने का काम करने को कहा। कहा गया कि समाज उत्थान के लिए निरोगी शरीर के साथ ही चरित्र निर्माण जरूरी है। यहां संघ कार्यकर्ताओं को गांव-गांव में शाखा लगाने और युवाओं का शारीरिक व मानसिक स्तर मजबूत करने को प्रोत्साहित किया गया।

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारकों ने महाविद्यालय में तीन दिवसीय शिविर की शुरुआत शुक्रवार को की थी। संघ परिवार के शिक्षक शैलेश जी ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आत्मरक्षा के लिए जूडो कराटे बेहद उपयोगी हैं। इसके माध्यम से खुद की रक्षा के साथ जरूरत पड़ने पर समाज विरोधी ताकतों से भी लड़ा जा सकता है। प्रतिस्पर्धा खेल के तौर पर अपनाई जाए तो बेहतर होता है। बोले कि शरीर को मजबूत करने के साथ अच्छे चरित्र का निर्माण करने से समाज का उत्थान संभव है। उन्होंने गांव गांव जाकर शाखा लगाने और समाज को एक सूत्र में पिरोने पर जोर दिया। कहा कि समाज को शक्तिशाली समाज तब बनेगा जबकि वह एक संगठित रूप से होगा। कहा कि हमारा राष्ट्र विश्व गुरु बने इसके लिए स्वस्थ उज्जवल एवं बहिर्मुखी प्रतिभा से लोगों को जिम्मेदारी उठानी होगी। यहां संघ परिवार के बौद्धिक प्रमुख ने भी भाग लिया। जिला बौद्धिक प्रमुख रवि जी व संपर्क प्रमुख डॉ. घनश्याम जी ने उत्तम राष्ट्र बनाने का संकल्प दिलाया। यहां खंड कार्यवाह अरुण कुमार, रामगोविद, राम किशोर पांडेय, आनंद श्रीवास्तव, राजेश, बलराम, शिवम शर्मा, अंशु, सुब्रत मंडल, मुनेश शुक्ला, विनीत त्रिवेदी, कीरत गुप्ता आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस