संवाद सहयोगी, डेरापुर (कानपुर देहात): डेरापुर तहसील क्षेत्र के गहोवा सुजनीपुर गांव के एक सैकड़ा से अधिक मनरेगा मजदूरों ने रोजगार सेवक पर रुपये लेकर हाजिरी लगाने का आरोप लगाया। डेरापुर उप जिलाधिकारी से शिकायत की है। एसडीएम ने खंड विकास अधिकारी को जांच कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं।

तहसील क्षेत्र के गहोवा सुजनीपुर गांव निवासी आकाश, सरोज, इंदिरा, महावीर, अमर सिंह, रामधनी, रामेश्वर, सिपाही लाल, मुन्नू लाल, लॉगश्री सहित करीब एक सौ से अधिक मनरेगा मजदूरों ने उप जिलाधिकारी ऋषि कांत राजवंशी को बताया कि गांव का रोजगार सेवक रविशंकर रुपए लेकर मनरेगा की हाजिरी ले रहा है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया की प्रति व्यक्ति 100 रुपये ना देने पर काम की हाजरी रोजगार सेवक द्वारा नहीं लगाई जा रही है। शिकायत पर डेरापुर उप जिलाधिकारी ने खंड विकास अधिकारी डेरापुर को मामले की जांच कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए हैं। एसडीएम ने बताया कि मजदूरों ने रोजगार सेवक पर रुपए लेकर हाजिरी लगाए जाने की शिकायत दर्ज कराई है। मामले से खंड विकास अधिकारी को जांच कर आवश्यक कानूनी कार्रवाई किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। डेरापुर खंड विकास अधिकारी बब्बन राय ने बताया कि मजदूर एक जगह 200 से अधिक संख्या में पहुंच गए जहां पर सिर्फ 50 मजदूरों का काम था। बाकी मजदूरों को वापस किया जा रहा था। मजदूर अपनी हाजिरी लगवाने पर जोर दे रहे थे जबकि रोजगार सेवक बिना काम के हाजरी लगाए जाने से मना कर रहा था। ग्राम विकास अधिकारी को गांव में अधिक से अधिक काम उपलब्ध करा कर मनरेगा मजदूरों को कार्य दिलाए जाने के निर्देश दिए गए हैं। रोजगार सेवक द्वारा रुपये मांग कर हाजिरी लगाए जाने का आरोप प्रारंभिक जांच में गलत पाया गया है फिर भी जांच कराई जा रही है। दोषी होने पर आवश्यक कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस