जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : आज जिले के शिवालयों में भक्त दर्शन पूजन को पहुंचेंगे। दिनभर बम-बम भोले का जयघोष गूंजता रहेगा। अधिकांश मंदिरों में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए भक्त दर्शन कर सकेंगे। मंदिरों में शनिवार रात तक तैयारियां चलती रहीं और धुलाई-सफाई भी की गई।

जिले के बाणेश्वर महादेव, रसूलाबाद के धर्मगढ़ बाबा मंदिर, अकबरपुर के कालिका देवी मंदिर, शिवली के जागेश्वर मंदिर समेत अन्य शिव मंदिरों में भक्त आज जलाभिषेक व दुग्धाभिषेक करेंगे। कोरोना काल के चलते कई जगह इस बार सावन मेला नहीं लगेगा लेकिन कम संख्या में दर्शन कराया जाएगा। कई जगह जुगाड़ से पाइप लगा दिया गया है जहां दूरी से ही भक्त पाइप के जरिए जलाभिषेक करेंगे और शिवलिग को छू नहीं सकेंगे। वहीं मास्क की अनिवार्यता होगी और भीड़ भाड़ नहीं होने दिया जाएगा। वहीं कुछ मंदिरों में घंटे को भी कपड़े से बांध दिया गया है। उधर रसूलाबाद धर्मगढ़ बाबा मंदिर परिसर पर पूरे सावन महीने भर लगने वाला मेला इस वर्ष भी कोरोना संक्रमण की गाइडलाइन के चलते नहीं होगा। दर्शनार्थियों को बाबा के दर्शन के लिए कोविड नियमों का पालन करना पड़ेगा। इसके लिए बैरीकेडिग की व्यवस्था की गई है। इससे भीड़ जुट नहीं सकेगी। यह जानकारी कांवर मेला समिति के अध्यक्ष पूर्व चेयरमैन रामू गुप्ता ने दी है। उन्होंने बताया की सरकार कि कांवर मेला के संबंध में कोई गाइडलाइन न मिलने के चलते इसे रद कर दिया गया। इसके साथ कांवड़ियों के दर्शन की व्यवस्था कोविड नियमों के तहत की गई है। उनके साथ कांवर मेला समिति के महामंत्री संजय मिश्रा, प्रबंधक मुरारी लाल कुशवाहा, संस्थापक प्रमोद कुमार शुक्ला, कोषाध्यक्ष राम दर्शन पांडेय समेत अन्य लोग शनिवार को मंदिर की व्यवस्था व साज-सज्जा में लगे रहे।

Edited By: Jagran