जागरण संवाददाता, कानपुर देहात : मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में तैनात एसीएमओ का दो दिन पूर्व सोते हुए वीडियो वायरल हुआ था। मामले में मुख्य चिकित्साधिकारी ने स्पष्टीकरण तलब किया था। विभागीय नियमों की अनदेखी व लापरवाही बरतने पर सीएमओ ने उन्हें जेल ड्यूटी से संबद्ध किया है।

जिले में डेंगू मलेरिया के साथ ही संक्रामक बीमारियां पैर फैला रही हैं। जिला अस्पताल के साथ ही सीएचसी-पीएचसी में बुखार पीड़ित मरीजों की लाइन लग रही है। वहीं स्वास्थ्य अधिकारी समस्या को लेकर उदासीन हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय में तैनात एसीएमओ डा. कुलदीप तोमर का दो दिन पूर्व कार्यालय में सोते हुए वीडियो वायरल हुआ था। लोगों ने इसे इंटरनेट पर शेयर करते हुए स्वास्थ्य विभाग के उदासीन रवैये पर सवाल उठाए थे। विभाग पर आमजन की ओर से टिप्पणी की गई, जिसे गंभीरता से लेते हुए उनसे स्पष्टीकरण तलब किया गया था। इस पर उन्होंने आंख बंद कर सोचने का तर्क दिया था। इसके साथ ही गलत आरोप लगा वीडियो वायरल करने की बात कही थी। कार्यालय में लापरवाही बरतने पर उन्हें जेल ड्यूटी में लगाया गया है। सीएमओ डा. एके सिंह ने बताया कि कार्यालय में सोने पर उन्हें जेल ड्यूटी में लगाया गया है।

Edited By: Jagran