कानपुर, जेएनएन। भैंसों और गायों को छुड़ाने के लिए नगर निगम दस्ते के कर्मचारियों से महिलाओं ने धक्का-मुक्की की। पुलिस की सख्ती पर विरोध करने वाली महिलाओं के पीछे हटने पर दस्ते ने 18 जानवरों को पकड़कर जाजमऊ स्थित गोशाला भेजा। पकड़े गए सभी जानवरों की नीलामी होगी।

अपर नगर आयुक्त अरविंद राय और प्रवर्तन प्रभारी आलोक नारायण की अगुवाई में दस्ता शनिवार सुबह एफएम काॅलोनी पहुंचा। यहां पर राजू यादव के चट्टे पर छापेमारी की। जब तक लोग कुछ समझ पाते, दस्ते ने चट्टे में बंधे जानवरों को खोलना शुरू कर दिया। बिना नोटिस के भैंसों को पकडऩे को लेकर महिलाओं ने विरोध शुरू कर दिया। साथ ही दस्ते के कर्मचारियों के साथ धक्का-मुक्की कर जानवरों को छुड़ाने का प्रयास किया, लेकिन दस्ते ने एक भी जानवर नहीं छोड़ा। 16 भैंस और दो गाय पकड़कर वाहनों पर लादकर जाजमऊ स्थित गोशाला भेज दिया। अपर नगर आयुक्त ने बताया कि जल्द भैंसों और गायों की नगर निगम मुख्यालय में नीलामी कराई जाएगी। पिछले दिनों पकड़ी गई भैंसों की नीलामी से 5.18 लाख रुपये मिले थे।

डेयरी में महापौर व नगर आयुक्त ने मारा छापा, शहर से हो बाहर

महापौर प्रमिला पांडेय और नगर आयुक्त अक्षय त्रिपाठी ने 80 फीट रोड पर स्थित सचान डेयरी एवं महाराजा डेयरी में शनिवार को छापा मारा।

सचान डेयरी में मौके पर 36 गाय और भैंसें मिलीं। महापौर ने सचान डेयरी के संचालक को निर्देश दिए कि एक माह में डेरी हटा लें, नहीं तो जानवर पकड़कर नीलाम किए जाएंगे। महाराजा डेयरी में मौके पर तीन गाय मिलीं। संचालक ने बताया कि भैंसों को रनिया स्थित अपने प्लाट पर भिजवा दिया है। अब यहां पर तीन गाय हैं, जो कि बीमार हैं। ठीक होते ही उन्हें भी रनियां ले जाएंगे। तलाशी के दौरान व पीछे की ओर प्लॉट पर जाने पर कोई भैंस नहीं मिली।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप