जागरण संवाददाता, कानपुर : हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग से जुड़ी औद्योगिक इकाइयों की स्थापना के लिए अब हथकरघा एवं वस्त्रोद्योग विभाग नियमावली तैयार करेगा। यह नियमावली उद्यमियों के सलाह पर बनेगी। इसके लिए विभाग के आयुक्त एवं निदेशक रमारमण ने कमेटी गठित की है। उन्होंने सोमवार को सर्वोदय नगर स्थित कार्यालय में उद्यमियों के साथ बैठक और उन्हें आश्वस्त किया कि किसी भी निवेशक को न तो सब्सिडी के लिए भटकना नहीं पड़ेगा। समयबद्ध ढंग से उनका प्रत्येक कार्य होगा।

आयुक्त एवं निदेशक ने कहा उद्यमी निवेश करें सुविधाएं जरूर मिलेंगी। भूमि के आवंटन, मानचित्र स्वीकृति समेत सभी जरूरतें उनकी पूरी होंगी। वे निवेश मित्र पोर्टल पर आवेदन कर सकते हैं। विभाग भी जल्द ही ऑनलाइन सुविधाएं उपलब्ध कराएगा। उद्यमियों ने कहा कि पूर्व में जो नीति बनीं उसके अनुसार सब्सिडी लेने में जूते घिस गए। आयुक्त ने कहा ऐसी समस्या न आए इसलिए ही वस्त्रोद्योग नीति की नियमावली बनाई जा रही है। उन्होंने मेगा, सुपर मेगा श्रेणी के उद्योगों पर मिलने वाली विभिन्न तरह की सब्सिडी व एमएसएमई श्रेणी के उद्योगों पर मिलने वाली सब्सिडी के बारे में बताया। इस अवसर पर उपायुक्त उद्योग केपी वर्मा , उद्यमी विशाल कुमार शर्मा, केजी गुप्ता, गौतम बनर्जी, नितिन जालान आदि रहे।

By Jagran