कन्नौज, जागरण संवाददाता। कोतवाली क्षेत्र के गांव में अपनी ससुराल में रह रहे युवक का शव घर के बाहर नीम के पेड़ पर लटका मिलने और पत्नी की लाश कमरे के अंदर खून से लथपथ मिलने से सनसनी फैल गई। तीन वर्षीय बेटा सुबह जागा और जमीन पर पड़ी मां को हिलाने लगा लेकिन वह नहीं उठी। इसपर वह कमरे के बाहर रोते हुए आया तो पड़ोसी घर के अंदर पहुंचे। कमरे के अंदर का नजारा देखकर वे सन्न रह गए और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर जांच शुरूकी है। 

थाना क्षेत्र के श्रीनगर गांव निवासी रामस्वरूप ने अपनी बेटी आरती की शादी छह वर्ष पूर्व इटावा के जसवंत नगर के सुगन्ध नगर गांव निवासी शक्ति सिंह के साथ की थी। घरेलू बातों को लेकर आरती व शक्ति के बीच विवाद होता रहता था। इससे 15 दिन पूर्व भाई गुड्डू अपनी बहन आरती को मायके बुला लाया था। साथ में तीन वर्षीय बेटा शिवा भी आ गया था। 22 जून को शक्ति पत्नी आरती व शिवा को बुलाने श्रीनगर आया था। तब से वह अपनी ससुराल में ही रह रहा था। दोनों लोग गांव के बाहर बने मकान में रहते थे। रविवार रात सभी लोग सो गए थे।

सोमवार सुबह बाहर के कमरे में सो रहे शिवा की नींद खुली तो अंदर के कमरे में मां के पास गया। यहां मां के न उठने पर रोने लगा। जब मां नहीं उठी तो घर के बाहर जोर जोर से रोने लगा। इससे आसपास के लोगों ने आकर शिवा को चुप कराया। इसके बाद घर के अंदर जाकर देखा तो कमरे में खून से लथपथ आरती का शव पड़ा था और आंगन में खड़े नीम के पेड़ से रस्सी के फंदे से शक्ति का शव लटक रहा था।

ग्रामीणों ने जानकारी स्वजन व पुलिस को दी। एएसपी डा. अरविंद कुमार, सीओ दीपक दुबे, सीओ प्रिंयका बाजपेई, थाना प्रभारी निरीक्षक पीएन बाजपेई पहुंच गए। आरती की मां सुनीता ने बताया कि दोनों के बीच मारपीट होती थी। शंका जताई कि पहले शक्ति ने आरती को पीटकर हत्या कर दी और फिर खुद फंदे पर लटक कर खुदकशी कर ली। एएसपी ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपार्ट आने पर आगे की कार्रवाई होगी। फिलहाल में पुलिस जांच लर रही है, तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

Edited By: Abhishek Agnihotri