कानपुर, जेएनएन। मानसून एक बार फिर धीरे धीरे सक्रिय होने लगा है। रविवार को काले घने बादल छा गए और बारिश ने शहरवासियों के तन-मन को भिगो दिया। आठ से 10 किलोमीटर की रफ्तार से तेज हवाओं ने गर्मी से राहत दी। मौसम विभाग की मानें तो सामान्य से तेज हवा और तापमान में उतार चढ़ाव होने से अगले 72 घंटे के अंदर अच्छी बारिश की संभावना है। फिलहाल आसमान में बदली छाई रहेगी और बीच बीच में तेज धूप भी बनी रहेगी।

सीएसए कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डा. एसएन सुनील पांडेय के अनुसार बंगाल की खाड़ी के ऊपर कम दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है जिससे देश के मध्य और उत्तरी भागों में कमजोर मानसून समाप्त हो जाएगा। पिछले दो हफ्ते से ट्रफ रेखा के हिमालय की तराई की ओर खिसक जाने से मानसून अनिश्चितता में चला गया। दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब और हरियाणा में बारिश बेहद कम हुई। रविवार और सोमवार से बंगाल की खाड़ी से नम हवा मैदानी क्षेत्रों की ओर आने की संभावना जताई गई थी जिसके चलते सुबह हल्की बारिश हुई। यही स्थिति अरब सागर की ओर से आने वाली नम हवा की होगी।

रूक-रूककर होगी बारिश

मौसम वैज्ञानिक डा. पांडेय ने बताया कि अगले तीन दिन में गंगा के मैदानी क्षेत्रों में पूर्वी हवा की अधिकता होने का अनुमान है। बुधवार तक रूक-रूक कर बारिश हो सकती है लेकिन यह मध्यम से भी हल्की होगी। उसके बाद बारिश तेज होगी और इसके लगातार होने के आसार हैं। उन्होंने बताया कि एक ट्रफ रेखा पंजाब से बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है। चक्रवाती हवा का क्षेत्र झारखंड और आसपास के क्षेत्र में सक्रिय है। एक और चक्रवाती हवा का क्षेत्र उत्तरी राजस्थान के नजदीक बना हुआ है।

Edited By: Abhishek Agnihotri