संवाद सहयोगी, महाराजपुर : विवाह सात जन्मों का सफर होता है, इसे आपसी समझ के साथ अच्छे से निभाना चाहिए। समर्पण और सहयोग की भावना वैवाहिक रिश्ते के लिए जरूरी है। ये बातें सरसौल में मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह में औद्योगिक विकास मंत्री सतीश महाना ने कहीं।

सरसौल स्थित हरि लॉन में शनिवार को मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह समारोह का आयोजन धूमधाम से किया गया। कैबिनेट मंत्री सतीश महाना व सीडीओ अरुण कुमार ने गणपति पूजन कर कार्यक्रम की शुरुआत की। यहां 25 जोड़े वैवाहिक बंधन में बंधे। इनमें एक मुस्लिम जोड़ा भी रहा। गाजेबाजे के साथ बारात निकली और जयमाल के बाद विवाह की रस्में निभाई गईं। एक तरफ जहां वैदिक मंत्रोच्चार के बीच ¨हदू जोड़े सात फेरे ले रहे थे तो दूसरी ओर मुस्लिम जोड़े का इस्लाम धर्म के रीति-रिवाजों से निकाह कराया गया। मंत्री सतीश महाना ने कहा कि पिछली सरकारों में 20 हजार रुपये का विवाह अनुदान दिया जाता था। जबकि भाजपा सरकार एक जोड़े पर 35 हजार रुपये खर्च कर रही है। यहां एसडीएम नर्वल कमलेश वाजपेई, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमरजीत ¨सह, भाजपा जिला महामंत्री राकेश तिवारी, प्रज्ञा पाण्डेय, बीडीओ गंगाराम, एडीओ समाज कल्याण हर्षवर्धन पांडे, बीडी राय, सुरेन्द्र, कमलेश, पारा ग्राम प्रधान रामगुलाम, महाराजपुर ईंट-भट्ठा एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश वर्मा व रानू आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस