महोबा, जेएनएन। अचानक नदी में पानी बढ़ जाने के कारण मछली पकडऩे गया युवक फंस गया। वह 12 घंटे तक नदी के एक टापू में बैठा रहा। सुबह ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर युवक को सुरक्षित बाहर निकाला।

थाना महोबकंठ क्षेत्र के ग्राम काशीपुरा से निकली धसान नदी में बुधवार शाम करीब छह बजे मछली पकड़ रहे झांसी मऊरानीपुर लखेश्वर निवासी नीरज पुत्र पूरे अचानक नदी में पानी बढ़ जाने के कारण फंस गया। मछुआरे ने तेजी से पानी की बढ़ता देख नदी के बीच में एक टापू को अपना सहारा बना लिया। जिस पर वह पूरी रात बैठकर ईश्वर से जान बचने की दुआएं करता रहा। गनीमत ये रही कि पानी टापू से ऊपर नहीं हुआ और नीरज सुरक्षित बना रहा। सुबह नदी की ओर गए ग्रामीणों ने टापू पर फंसे एक युवक को देखकर थाना महोबकंठ पुलिस को सूचना दी।

हरकत में आई पुलिस ने सक्रियता दिखाते हुए रेस्कय़ू ऑपरेशन शुरू किया। इसके बाद ग्रामीणों की टीम ने पानी के तेज बहाव के बावजूद टापू पर फंसे मछुआरे को सुरक्षित नदी से बाहर निकालने में सफलता हासिल की। कुलपहाड़ एसडीएम मोहम्मद अवेश कुमार भी मौके पर पहुंचे और मछुआरे के विषय में ग्रामीणों से जानकारी हासिल की। तब तक पुलिस मछुआरे को सुरक्षित निकाल चुकी थी। पुलिस के रेस्क्यू ऑपरेशन को देखने के लिए बड़ी संख्या में ग्रामीणों की भीड़ धसान नदी के तट पर एकत्र रही। बाद में नीरज को उसके मामा टीकमगढ़ निवासी राम प्रसाद के सुपुर्द कर दिया गया।

इनका ये है कहना

मेरे क्षेत्र में मछुआरे नहीं हैं। यह एक आम नागरिक था जो स्वयं के खाने के लिए मछली पकडऩे के चक्कर में नदी में प्रवेश कर गया था। नदियों में मछुआरों के प्रवेश को ध्यान में रखते हुए पुलिस सतर्क है। लोगों को सूचित कर दिया गया है कि कोई भी व्यक्ति बरसात के मौसम में मछली के चक्कर में नदियों में प्रवेश न करें।

-प्रतिमा सिंह, प्रभारी निरीक्षक महोबकंठ 

Posted By: Abhishek