वनपुरवा, गंगागंज, मेहरबान सिंह पुरवा के लोग घरों में हुए कैद, बाढ़ की आशंका पर बच्चों को रिश्तेदारों के घर भेजा जागरण संवाददाता, कानपुर : पांडु नदी के उफनाते ही आसपास के खेतों में हुई प्लाटिग में निर्माण कराके रहने वालों के घरों तक पानी पहुंच गया है। इस वजह से दक्षिण क्षेत्र के आधा दर्जन मोहल्लों के लोग घरों के अंदर कैद हो गए हैं। उन्होंने गृहस्थी का सामान पहली मंजिल में शिफ्ट करना शुरू कर दिया है। वही शनिवार को भी तमाम परिवारों का सुरक्षित स्थानों पर पलायन जारी रहा। हालांकि अभी तक प्रशासन की ओर से कोई मदद नहीं पहुंचाई गई है।

पांडु नदी का जलस्तर शनिवार को भी बढ़ने से मेहरबान सिंह पुरवा, वनपुरवा, पिपौरी, बर्रा आठ, तात्याटोपे नगर, कपली गंगागंज इलाके में पानी घरों के अंदर तक पहुंच गया, जिससे गृहस्थी भीग गई। गंगागंज के अजीत सिंह ने बताया कि घर में अंदर पानी पहुंच जाने से परिवार में दहशत है। वनपुरवा के प्रतीक यादव ने बताया कि पानी का स्तर कब बढ़ जाए कोई भरोसा नहीं है। बच्चों को परेशानी न झेलनी पड़े, इस वजह से उन्हें दादानगर में रिश्तेदार के घर छोड़ आए हैं। वहीं, बर्रा कच्ची बस्ती, वनपुरवा से दूसरे दिन भी लोग सामान लेकर सुरक्षित स्थान पर निकल गए।

पानी में करंट उतरने का खतरा

बर्रा आठ कच्ची बस्ती के बीच हाई व लो टेंशन लाइन निकली है। लो टेंशन लाइन के तार इतने ज्यादा नीचे हैं कि पानी और लाइन के बीच सिर्फ एक फीट की दूरी ही रह गई है। ऐसे में पानी में करंट उतरने का भी खतरा है।

Edited By: Jagran