कानपुर, जागरण संवाददाता। गर्मी बढ़ते ही पानी का संकट भी बढ़ने लगा है। नौबस्ता के आशानगर स्थित टंकी से कई इलाकों में पानी की सप्लाई न होने से लोग पानी खरीद रहे हैं या फिर काफी दूर लगे हैंडपंप से चिलचिलाती धूप में पानी भर कर ला रहे हैं। महीनेभर से पीने के पानी की समस्या से जूझ रही जनता ने बुधवार सुबह पहले पार्षद के घर पहुंच घेराव किया। फिर उनके साथ खाली बाल्टी लेकर पानी की टंकी पर चढ़कर प्रदर्शन कर नारेबाजी की।

नौबस्ता आशा नगर और राजेंद्र नगर की सुषमा, रामकली, भूरी, गुड्डी, शकुन्तलादेवी आदि महिलाओं ने बताया कि आशा नगर इलाके में जलनिगम की पानी की टंकी बनी है, लेकिन वहां का आपरेटर कभी-कभी सप्लाई चालू करता है। आरोप है कि अक्सर वह मोटर खराब होने तो कभी बिजली समस्या बता पंप बंद कर देता है, जिससे आशानगर, राजेंद्र नगर, बक्तौरीपुरवा, बंशी विहार, दुर्गा नगर, सरस्वती नगर की 20 हजार से ज्यादा जनता पानी की किल्लत से जूझ रही है। इन इलाकों में जिनके यहां सबमर्सिबल पंप लगे हैं।

उनसे लोग पानी खरीदने को मजबूर हैं। बहुत से परिवारों की आर्थिक स्थिति ठीक न होने पर वो 500 मीटर आगे जाकर हैंडपंप से पानी भरकर नाते हैं। गर्मी बढ़ते ही पानी की समस्या ज्यादा बढ़ने से गुस्साए लोगों ने पार्षद के घर जाकर उनका घेराव किया तो वह भी उनकी समस्या को देख उनके साथ पानी की टंकी पर पहुंचीं। सभी ने खाली बाल्टी लेकर टंकी पर चढ़कर अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी की है। पार्षद मेनका सेंगर ने बताया कि वह नगर आयुक्त समेत सभी अधिकारियों से समस्या बताई जा चुकी है, लेकिन कोई कुछ नहीं कर रहा है। जनता उनके घर घेराव कर देती है।

Edited By: Abhishek Verma