कानपुर, जेएनएन। पंचायत चुनाव की सरगर्मियां बढऩे और कुछ दिन पूर्व दो पक्षों में मारपीट के बाद बिकरू गांव की सीसीटीवी कैमरों से निगहबानी की तैयारी है। इन कैमरों को इंटरनेट के जरिए सीओ व थाना प्रभारी के दफ्तर से भी जोड़ा जाएगा ताकि लगातार निगाह रखी जा सके। गांव में पिकेट की भी व्यवस्था कराने के साथ ही अन्य संवेदनशील गांवों की भी सूची तैयार की जा रही है।

पंचायत चुनाव की सरगर्मियां शुरू होने के साथ ही बिकरू में पूर्व प्रधान रहे लोगों के स्वजन भी प्रत्याशी बनने की दौड़ में शामिल होने की तैयारी कर रहे हैं। यही नहीं मुठभेड़ में मारे गए दुर्दांत विकास दुबे के परिवार से उसके चचेरे भाई अनुराग दुबे ने भी तैयारी शुरू कर दी है। कुछ दिन पूर्व इसी वजह से गांव में दो गुटों के बीच ङ्क्षहसक वारदात हुई थी।

पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भी भेजा था। अब अधिकारियों ने बिकरू समेत अन्य संवेदनशील गांवों की सूची बनानी शुरू की है। चुनावी माहौल तेज होने पर इन सभी गांवों में सीसीटीवी कैमरे लगवाए जाएंगे। डीआइजी डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि बिकरू के साथ संवेदनशील माने जा रहे अन्य गांवों में भी चुनाव के दौरान सीसीटीवी सर्विलांस कैमरे लगवाए जाएंगे।

जय बाजपेयी के साथी के खिलाफ कुर्की की प्रक्रिया शुरू

जयकांत बाजपेयी के दोस्त राहुल सिंह के खिलाफ पुलिस ने कुर्की की प्रक्रिया शुरू कर दी है। कोर्ट से कुर्की की उद्घोषणा का आदेश मिलने के बाद पुलिस ने राहुल के घर पर नोटिस भी चस्पा कर दिया है। जल्द ही आरोपित कोर्ट में हाजिर नहीं हुआ तो न्यायालय की अवमानना का भी केस दर्ज होगा और इसके बाद कोर्ट से कुर्की की धारा 83 के लिए आवेदन किया जाएगा।

पुलिस के मुताबिक बिकरू कांड के बाद पुलिस ने काकादेव क्षेत्र में जय की जो तीन कारें बरामद की थीं, उसमें से एक एसयूवी राहुल के नाम पर है। इसमें सचिवालय का फर्जी पास भी लगा था। फर्जीवाड़े की पुष्टि होने के बाद काकादेव पुलिस ने जय और राहुल के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया था। राहुल अब तक पुलिस के हाथ नहीं लगा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021