कानपुर, [जागरण स्पेशल]। ईश्वर सब देखता है और सही समय पर फैसला लेता है। यदि जीवन भर पाप किया है तो उसका घड़ा फूटेगा ही। यह बात पुलिस मुठभेड़ में मारे गए मोस्ट वांटेड विकास दुबे के बहनोई दिनेश तिवारी ने कही। उन्हें अपने साले विकास दुबे की मौत पर कोई अफसोस नहीं है। उनका कहना है कि विकास ने जैसे कर्म किए थे, उसका वैसा ही फल मिला है।

विकास की वजह से उनके परिवार को भी होना पड़ता था परेशान

शिवली निवासी दिनेश तिवारी को सुबह जब पुलिस से पता चला कि विकास दुबे मारा गया तो बरबस ही उनके मुंह से निकला कि पाप का घड़ा भर चुका था। दिनेश ने कहा कि शुरुआत में मैंने कई बार समझाया कि गलत रास्ते पर चलना छोड़ दो, लेकिन वह था कि सुधरने का नाम नहीं ले रहा था। निर्दोष लोगों की बद्दुआ उसे लगी है और उसने बिकरू में ऐसी घटना को अंजाम दिया कि इस दुनिया में कहीं भी उसकी माफी नहीं थी। उसके साथ जो भी हुआ वह उसके पाप कर्मों के जरिए ही उसे वापस मिला है। उन्होंने बताया कि करीब तीन चार साल से ज्यादा बोलचाल भी नहीं था। उसकी वजह से उन्हेंं व उनके परिवार को भी परेशान होना पड़ता था। 

Posted By: Abhishek Agnihotri

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस