कानपुर, जेएनएन। गोविंद नगर के दबौली वेस्ट में रहने वाली छेडख़ानी की पीडि़ता किशोरी ने थाना प्रभारी पर गंभीर आरोप लगाए हैं। पीडि़ता का कहना है कि आरोपित ने पहले तो स्वजनों से मारपीट की। बाद में सामान लेकर दुकान से लौटते वक्त छेडख़ानी भी की। शिकायत लेकर थाने गई तो पुलिस ने बिठाए रखा। थाना प्रभारी से गुहार लगाई तो बोले पहले डांस करके दिखाओ फिर करेंगे कार्रवाई। देर रात सोशल मीडिया पर किशोरी का वीडियो वायरल होने के बाद हड़कंप मच गया। देर रात एसपी साउथ ने मामला मकान के कब्जे का विवाद बताया है।

किशोरी ने बताया कि वह उसकी मां जागरण पार्टी में काम करती हैं। 26 मार्च को दोपहर में आरोपित ने घर में घुसकर स्वजनों के साथ मारपीट की थी। सात अगस्त की रात 8 बजे दुकान से सामान लेकर लौटते वक्त छेडख़ानी की जिसकी शिकायत लेकर थाने गई थी।

आरोप है कि थाना प्रभारी ने काम के बारे में पूछा तो उसने जागरण पार्टी में काम करने की बात कही। आरोप है कि देर रात थाना प्रभारी गोविंद नगर अनुराग मिश्र पहले थाने में बैठाए रखे फिर बोले डांस करके दिखाओ तब कार्रवाई करेंगे। किशोरी का आरोप है कि आरोपित थाने का मुखबिर है। जिसके चलते पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है।

मामले में थाना प्रभारी गोविंद नगर ने किशोरी के आरोपों को निराधार बताया है। वहीं एसपी साउथ दीपक भूकर ने बताया कि वायरल वीडियो में जो किशोरी है उसका बीएसयूपी आवास में अवैध कब्जे को लेकर मालकिन मिथिलेश से विवाद है। दस मार्च को दोनों पक्षों ने अपना ताला डाला था। सात अगस्त को किशोरी के पक्ष के लोग ताला तोड़ रहे थे जिस पर चौकी लाया गया था। मेडिकल कराने के बाद घर भेजा गया था। एसपी साउथ के मुताबिक जिस पर किशोरी ने छेडख़ानी का आरोप लगाया है। वह मकान मालकिन का भतीजा है। सुनियोजित तरह से वीडियो वायरल किया गया है।

Edited By: Abhishek Agnihotri