कानपुर, जेएनएन। औद्योगिक क्षेत्र की सड़कें चलने लायक नहीं हैं और मार्ग प्रकाश भी बंद है। इससे कभी भी बड़ा हादसा हो सकता है। यह शिकायत सोमवार को उद्यमियों ने उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) अधिकारियों से की।

यूपीसीडा से जुड़ी समस्याओं के लिए इंडियन इंडस्ट्रीज एसोसिएशन (आइआइए) ने उद्योग कुंज स्थित आइआइए भवन में बैठक का आयोजन किया था। यूपीसीडा के क्षेत्रीय प्रबंधक मयंक मंगल की अध्यक्षता में हुई बैठक में आइआइए के अध्यक्ष जय हेमराजानी ने कहा कि पनकी साइट पांच में वाहनों के आने जाने के लिए एक ही रास्ता है जिसकी वजह से जाम लगता है। समस्या के समाधान के लिए जरूरी है कि पनकी साइट पांच से एक पुल बनाकर उसे पनकी साइट एक से जोड़ दिया जाए। महामंत्री दिनेश बरासिया ने चकेरी क्षेत्र की समस्याओं को रखा। उन्होंने बताया कि वहां सड़कें वाहनों तक के चलने लायक नहीं हैं। नालियां टूटी पड़ी हैं और मार्ग प्रकाश के खंभों पर लाइटें नहीं जलती। टूटी नालियों को बनाने का भी मुद्दा उठा। राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष आलोक अग्रवाल ने पनकी औद्योगिक क्षेत्र के साइट एक के भूखंडों पर उद्यमियों को कब्जा न दिए जाने की शिकायत की। क्षेत्रीय प्रबंधक ने समस्याओं को हल कराने का आश्वासन दिया। इस मौके पर यूपीसीडा के वरिष्ठ प्रबंधक निर्माण खंड संजय तिवारी, आइआइए के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष तरुण खेत्रपाल, सुनील वैश्य, मनीष गुप्ता, संजय जैन, मनमोहन राजपाल, आलोक जैन, संदीप पाटनी, सत्यम गुप्ता रहे।

Edited By: Shaswat Gupta