फतेहपुर, जेएनएन। आइएएस परीक्षा में टाप करने वालीं जागृति अवस्थी गांव में अपनों के प्यार से अभिभूत हो गईं। गांव पहुंचीं तो बचपन की यादें आंखों में तैरने लगीं। किसी से नमस्ते और किसी को शीश झुकाकर प्रणाम किया तो होनहार बेटी को पाकर गांव और क्षेत्र व जिले के हर व्यक्ति का मन पुलकित हो उठा। कामयाब बेटी के कदमों से गांव की माटी भी महक उठी। स्वागत व अभिनंदन का सिलसिला शनिवार रात तक चलता रहा।

जागृति अपने पिता सुरेश चंद्र अवस्थी, मां मधुलता व चाचा अवधेश के साथ जहानाबाद पहुंचीं। थाना मोड़ पर नगर पंचायत अध्यक्ष राबिया खातून आदि ने माला पहनाकर भव्य स्वागत किया। बस अड्डे के निकट विनोद वाजपेयी के आवास पर पगड़ी पहना कर महिलाओं ने बेटी को गले लगाया। रोटी चौराहे पर युवाओं ने गाजे-बाजे से स्वागत किया। नसेनिया गांव में हर कोई बेटी से मिलने को आतुर दिखा। सभी ने मुंह मीठा करा फूल मालाओं से लाद दिया। डिघरुवा के प्रमोद शुक्ला ने प्रतीक चिन्ह भेंट किया।

दूसरे दिन जागृति अमौली, मेढ़ापाटी, मानेपुर, दपसौरा, रामपुर कुर्मी, चांदपुर, भरसा व आजमपुर गड़वा गांव के स्वागत समारोह में शामिल हुईं। दिन के दूसरे पहर में जयराम नगर स्थित दादा योगेश चंद्र अवस्थी के घर स्वागत व सम्मान हुआ। यहां पर विधायक विक्रम ङ्क्षसह, अर्चना त्रिपाठी, शिव प्रसाद त्रिपाठी, ब'चा तिवारी आदि ने स्वागत किया। इसी क्रम में शहर के द्विवेदी होटल में भाजपा जिलाध्यक्ष आशीष मिश्र, राकेश त्रिवेदी, प्रभुदत्त दीक्षित, मनोज मिश्र व रमन द्विवेदी आदि ने स्वागत किया। आइएएस टापर ने युवाओं को मेहनत का संदेश दिया।

मौका दें, बेटियों में हर चुनौती से लडऩे का माद्दा

यूपीएससी परीक्षा की टापर जागृति अवस्थी ने कहा कि बेटियां हर चुनौती से लडऩे के काबिल हैं। सभी को अपनी काबिलियत पर भरोसा रखना चाहिए। उन्होंने अभिभावकों से कहा कि बेटी को घर में सपोर्ट करें। घर में बेटी सशक्त होगी तो बाहर की चुनौती से लड़ सकेगी। उन्होंने कहा कि हर सफर में उतार चढ़ाव होता है।

डीएम ने की अगवानी, अपनी कार से भेजा गांव : जागृति जैसे ही जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे के आवास पर पहुंचीं, डीएम ने अगवानी की और मुंह मीठा कराया। डीएम ने अपनी कार से मेधावी बेटी को उनके गांव नसेनिया भेजा।

Edited By: Abhishek Agnihotri