कानपुर, जेएनएन। मौसम विभाग की मानें तो फिलहाल अभी उमस और गर्मी से राहत मिलने वाली नहीं है। अभी हल्की-मध्यम बारिश की संभावना बनी है, वहीं अगले दो दिन में यूपी के तराई वाले इलाकों में ज्यादा बारिश हो सकती है। लेकिन, बारिश के बाद आसमान साफ हो जाएगा और अभी लगातार बारिश वाली स्थिति नहीं बन रही है। ऐसे में आसमान में बादल छाए रह सकते हैं और बूंदाबांदी हो सकती है।

चंद्रशेखर आजाद कृषि एवं प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञानी डा. एसएन सुनील पांडेय ने बताया कि बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव बनने लगा है। समुद्र से नमी लिए हवा मैदानी क्षेत्रों की ओर बढ़ रही हैं। प्रशांत महासागर में भी हलचल शुरू हो गई है। वहां से भी नमी लिए हवा आगे बढ़ सकती है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान में उतार चढ़ाव होगा। झारखंड और ओडिशा से सटे उत्तरी छत्तीसगढ़ पर एक गहरा कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। मानसून की ट्रफ रेखा अनूपगढ़, अलवर, शिवपुरी, सतना, गहरे निम्न दबाव के क्षेत्र से होते हुए चांदबली और दक्षिण पूर्व की ओर बंगाल की खाड़ी की ओर जा रही है। एक अपतटीय ट्रफ रेखा महाराष्ट्र तट से उत्तरी केरल तट तक फैली हुई है। एक चक्रवाती हवा का क्षेत्र दक्षिण-पश्चिम राजस्थान और आसपास के क्षेत्र पर बना हुआ है।

उन्होंने बताया कि अगले 24 घंटे के दौरान, मध्य प्रदेश और कोंकण और गोवा में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पश्चिम बंगाल, ओडिशा, झारखंड, दक्षिण-पूर्वी राजस्थान और गुजरात में हल्की से मध्यम बारिश के आसार हैं। पूर्वोत्तर भारत, पश्चिम बंगाल, सिक्किम, कर्नाटक, केरल, विदर्भ, झारखंड, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और छत्तीसगढ़ में हल्की बारिश हो सकती है। पश्चिमी राजस्थान, महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, लक्षद्वीप, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में छिटपुट वर्षा की संभावना है।

Edited By: Abhishek Agnihotri