कानपुर, जागरण संवाददाता। विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी बसपा ने अब बड़ा दांव चला है। पार्टी ने कानपुर- फर्रुखाबाद सेक्टर और कानपुर महानगर इकाई को भंग कर दिया है और मुख्य सेक्टर प्रभारी बौद्धप्रिय गौतम को कानपुर मंडल का मुख्य सेक्टर प्रभारी बना दिया है जबकि महानगर अध्यक्ष रामनारायण निषाद को महानगर इकाई में ही उपाध्यक्ष बना दिया गया है। अब महानगर इकाई के अध्यक्ष देवी प्रसाद तिवारी होंगे। देवी प्रसाद तिवारी बसपा से ही गोविंद नगर सीट से चुनाव लड़ चुके हैं। जब वे कांग्रेस में थे तो कल्याणपुर विधानसभा सीट से मैदान में उतर चुके हैं। 

बसपा के लिए 2012 और 2017 का विधानसभा चुनाव कानपुर जिले में बहुत ही निराशाजनक रहा। पार्टी को यहां एक भी सीट नहीं मिली थी। 2022 में होने वाले चुनाव में पार्टी बूथ जीतो चुनाव जीतो की रणनीति पर काम कर रही है। निष्क्रिय पदाधिकारियों को हटाया जा रहा है और जो सक्रिय हैं उन्हें पुरस्कार स्वरूप पद भी बांटे जा रहे हैं। पार्टी ने कानपुर- फर्रुखाबाद सेक्टर को भंग किया है। इस सेक्टर में कन्नौज जिला भी था। इसके मुख्य सेक्टर प्रभारी डीआर त्यागी को महानगर इकाई में महासचिव पद की जिम्मेदारी दी गई है, जबकि दूसरे सेक्टर प्रभारी राजकुमार कप्तान को नगर सचिव बनाया गया है। महानगर इकाई में ही पूर्व में उपाध्यक्ष रहे हमजा रजा को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। कानपुर- फर्रुखाबाद के सेक्टर प्रभारी बौद्धप्रिय गौतम मुख्य सेक्टर प्रभारी के रूप में कानपुर मंडल में काम करते रहेंगे। जिलाध्यक्ष रामशंकर कुरील का कहना है कि संगठन में जो भी परिवर्तन हुए हैं पार्टी मुखिया के आदेश पर हुए हैं। वहीं महानगर अध्यक्ष पद से हटाए गए रामनारायण निषाद का कहना है कि उन्नाव की बांगरमऊ विधानसभा सीट से टिकट मांगा है। पार्टी मुखिया ने जो भी फैसला लिया है वह अच्छा लिया है। 

Edited By: Abhishek Agnihotri