कानपुर, जेएनएन। शहर में कोरोना संक्रमित मिले मरीजों की संख्या बढ़कर अब 11 हो गई है। बुधवार को एसजीपीआई लखनऊ से आई रिपोर्ट में जमाती के संपर्क में व्यक्ति के बेटा भी कोरोना पॉजिटिव मिला है। इसके बाद महानगर में कोरोना संक्रमितों में आठ जमाती और उनके संपर्क में आए दो लोग हो गए हैं। वहीं सबसे पहले कोरोना संक्रमित मिले बुजुर्ग की दूसरी व तीसरी रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद अस्पताल से छुट्टी देकर घर में 14 दिन के लिए क्वारंटाइन कराया गया है।

जिले में तब्लीगी जमात के सदस्यों के आने के बाद से कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने लगा है। बुधवार को केस घाटमपुर क्षेत्र से सामने आया है, इसमें जमाती से संपर्क में अाकर संक्रमित हुए व्यक्ति के बेटे में कोरोना वायरस का संक्रमण पाया गया है। घाटमपुर के मोहल्ले में रहने वाला 53 वर्षीय व्यक्ति दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज से आए तब्लीगी जमात के सदस्यों के संपर्क में आया था। मरकज से शहर आए तब्लीगी जमात के सदस्यों को सजेती बरीपाल की बड़ी मस्जिद से एक अप्रैल को पकड़ा गया था। जांच में तीन सदस्यों में कोरोना वायरस के संक्रमण की पुष्टि होने के बाद संपर्क रहे क्षेत्र के 11 लोगों को उसी रात पकड़ा गया था। इसमें बरीपाल के सात, घाटमपुर मोहल्ला के तीन और सजेती के एक व्यक्ति को नारायणा मेडिकल कॉलेज में क्वारंटाइन कराया गया।

सभी के नमूने लेकर जांच कराई गई, जिसमें घाटमपुर के रहने वाले 53 वर्षीय व्यक्ति में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई थी। इसके बाद मंंगलवार को उसकी पत्नी व बटों समेत पांच लोगोंं के नमूने जांच के लिए एसजीपीजीआइ भेजे गए थे। बुधवार को जांच रिपोर्ट में जमाती के संपर्क में आकर कोरोना संक्रमित व्यक्ति के बेटे में भी संक्रमण की पुष्टि हुई है। सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला ने बताया कि एसजीपीजीआइ लखनऊ से 10 लोगों की जांच रिपोर्ट आई है, जिसमें घाटमपुर क्षेत्र के रहने वाले कोरोना पॉजिटिव मिले संपर्की के बेटे में संक्रमण की पुष्टि हुई है, जबकि अन्य नौ लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

Posted By: Abhishek

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस