कानपुर, [राहुल शुक्ला]। UP Assembly Chunav 2022 : चुनावी समीकरण हमेशा से दल के साथ-साथ प्रतिद्वंद्वी योद्धाओं का कद देखकर बनते बिगड़ते रहे हैं। भाजपा से सत्ता छीनने के लिए इस बार सपा अंत तक अपने पत्ते नहीं खोल रही है। सपा ने अब तक सूची जारी न करके भाजपा, कांग्रेस और बसपा के सूरमाओं के सामने आने पर अंत समय में अपने प्रत्याशी को बी फार्म तक सौंपने की रणनीति बनाई है। जिले की 10 सीटों में बसपा व कांग्रेस ने पांच-पांच और आप ने छह प्रत्याशी घोषित कर दिए हैं, लेकिन भाजपा के साथ सपा ने अब तक सस्पेंस बनाकर रखा है। भाजपा में कुछ माननीयों के टिकट कटने की सुगबुगाहट तो है पर वह सपा के प्रत्याशियों को देखकर तय किए जाने की चर्चा है। अंत समय तक फार्म बी बदलने की सपा की रणनीति ने समीकरण फंसा दिए हैं।

 सपा सत्ता की गद्दी तक पहुंचने के लिए कोई कसर नहीं छोडऩा चाहती। पहली बार पार्टी ने कई सीटों में प्रत्याशियों की सूची न जारी कर बी फार्म थमा दिया है। इसको लेकर शहर में भी हाईकमान ने टिकट देने का खाका तैयार किया है। पार्टी ने वर्तमान विधायकों से कहा है कि चुनाव लडऩे की तैयारी कर लें, लेकिन ऐनवक्त पर उनको मना करके किसी और को फार्म बी सौंपा जा सकता है या दूसरी सीट से भी लड़ाया जा सकता है। सपा की सबसे मजबूत सीटें सीसामऊ, आर्यनगर और कल्याणपुर मानी जा रही हैं। इन सीटों पर हाईकमान की नजर है। भाजपा ने अपने पुराने धुरंधर को सीसामऊ से तैयारी करने का संकेत जरूर दे दिया है, पर अभी तक पिछले चुनाव में हारी आर्यनगर और कैंट सीट पर अपने पत्ते नहीं खोले हैं।

सपा हाईकमान ने दावेदारों से कागजी तैयारी पूरी कर लेने को कहा है, जिससे ऐन वक्त पर मुख्यालय बुलाकर फार्म बी थमाया जा सके। पहले चरण के बाद पार्टी द्वारा सूची जारी न करके 54 प्रत्याशियों को फार्म बी दिया है। इसके चलते शहर की सीटों में भी कौन लड़ेगा अभी तय नहीं है। ऐन वक्त पर प्रत्याशी घोषित किया जाएगा। इसको लेकर भाजपा के साथ ही कांग्रेस भी कई सीटों में रणनीति बना रही है।  सभी दल दूसरी पार्टी में विभीषण ढूंढ़ रहे हैं ताकि विरोधी की तैयारी जानकर अपनी रणनीति बना सकें। सपा के नगर अध्यक्ष डा. इमरान ने बताया कि शहर की किसी भी सीट के लिए पार्टी ने अभी तक कोई फार्म बी जारी नहीं किया है। कई जगह हाईकमान ने प्रत्याशी को सीधे बुलाकर फार्म बी पकड़ाया है।

Edited By: Abhishek Verma