कानपुर, जागरण संवाददाता। बसपा के पश्चिमी उप्र प्रभारी शमशुद्दीन राईन के पारिवारिक भतीजे और मटर कारोबारी अमीन राईन को पुलिस ने छोड़ दिया है। हालांकि उनके पास से मिले पचास लाख रुपये पुलिस ने अभी कस्टडी में रखे हैं, जिसकी जांच आयकर विभाग करेगा। पुलिस ने शनिवार रात चकेरी थाना क्षेत्र के रामादेवी चौराहे के पास से गाड़ी से नकदी बरामद होने पर अमीन को पकड़ा गया था। आयकर जांच निदेशालय की टीम उससे पूछताछ कर रही थी। कारोबारी के चार्टेड अकाउंटेंट ने कैश का ब्योरा टीम को सौंपा तब अमीन राईन को छोड़ा गया है।

लखनऊ नंबर पर पंजीकृत नीले रंग की स्कार्पियो को फ्लाइंग स्क्वाड और स्टैटिक सर्विलांस टीम ने शनिवार रात रामादेवी चौराहे से पकड़ा था। पूछताछ में कारोबारी ने अपना नाम उरई बजरिया थाना क्षेत्र के कृष्णा नगर निवासी आमीन राईन बताया। वह राज फ्रोजन कंपनी के नाम से कारोबार करता है और बसपा के पश्चिम यूपी प्रभारी शमशुद्​दीन राईन का पारवारिक भतीजा है। गाड़ी से 50 लाख की नकदी बरामद होने के बाद आमीन को थाने लाया गया था।

यहां आयकर जांच निदेशालय से पहुंची टीम ने उससे पूछताछ शुरू की थी। देर रात तक कारोबारी नकदी का स्रोत नहीं बता पाया। इसके बाद रविवार को कारोबारी के चार्टेड अकाउंटेंट थाने पहुंचे और नकदी का पूरा ब्योरा दिया। इसके बाद कारोबारी अमीन को छोड़ दिया गया। चकेरी थाने के इंस्पेक्टर क्राइम जावेद अहमद ने बताया कि रविवार होने के चलते आयकर की टीम नकदी नहीं ले गई। नकदी मालखाने में सुरक्षित रखी गई है। आयकर की जांच पूरी होने के बाद नकदी रिलीज की जाएगी।

Edited By: Abhishek Agnihotri