कानपुर, जागरण संवाददाता। जिला निर्वाचन अधिकारी नेहा शर्मा ने नामांकन स्थलों का निरीक्षण किया। इस दौरान 10 विधानसभा सीटों के रिटर्निंग अफसर मौजूद नहीं थे। इस पर उन्होंने सभी को चेतावनी पत्र जारी किया। नामांकन की निगरानी के लिए बनाए गए कंट्रोल रूम को भी देखा। कहा कि कंट्रोल रूम में तैनात अधिकारी व कर्मचारी पूरी सतर्कता से कार्य करें। किसी भी तरह की लापरवाही न हो। कंट्रोल रूम में नामांकन के समय मजिस्ट्रेट भी मौजूद रहेंगे। 

उन्होंने कंट्रोल रूम में पब्लिक एड्रेस सिस्टम लगाने के लिए कहा। मतदाता पहचान पत्रों का वितरण तेजी से करने के आदेश उन्होंने दिए। इसके बाद उन्होंने नौबस्ता गल्ला मंडी का निरीक्षण किया। वहां बनाए गए स्ट्रांग रूम रूम को देखा। मतगणना जहां होनी है उन चबूतरों को भी देखा।  मंडी सचिव से कहा कि शेडों में जो भी कार्य होने हैं उन्हें समय से करा लें। पीडब्ल्यूडी की ओर से 30 जनवरी तक विधानसभावार स्ट्रांग रूम के बाहर पेंटिंग रोशन दान को सील करने का कार्य कर लिया जाए। पार्किंग स्थल का समतलीकरण करने के साथ ही मैदान में लगे बिना बिजली के तार वाले पोल को हटाया जाए। बसों के आवागमन के लिए रैंप का निर्माण , झाडिय़ों की सफाई ,बसों को खड़ा करने के लिए पर्याप्त व्यवस्था और लाइटें लगाने के लिए कहा। इस अवसर पर एडीएम सिटी अतुल कुमार, एडीएम वित्त दयानंद प्रसाद, एडीएम भू अध्याप्ति सत्येंद्र कुमार उपस्थित रहे। 

मतदान प्रतिशत हर हाल में बढ़ाना है

निरीक्षण के बाद जिला निर्वाचन अधिकारी ने कलेक्ट्रेट में चुनाव संबंधी तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि हमें मतदान प्रतिशत को बढ़ाना है। इसके लिए जागरुकता अभियान भी चलाया जाए। स्वीप अभियान के तहत जो भी कार्यक्रम होने हैं उनका आयोजन सुनिश्चित किया जाए। नामांकन के समय पार्किंग की पर्याप्त व्यवस्था भी देख लें।  ताकि यातायात प्रभावित न हो। उन्होंने मतदान कार्मिकों के प्रशिक्षण के दौरान पालीटेक्निक में फर्नीचर , पानी, लाइट, पार्किंग आदि की पर्याप्त व्यवस्था करने का आदेश दिया। इस अवसर पर सीडीओ महेंद्र कुमार, सचिव केडीए शत्रोहन वैश्य आदि अफसर उपस्थित रहे। 

Edited By: Abhishek Verma