कानपुर, जागरण संवाददाता। प्रदेश सरकार के बजट में कानपुर में एटीएस सेंटर के लिए भी धन आवंटित होने के बाद सेंटर के जल्द ही क्रियाशील होने की उम्मीदें जाग गई हैं। वहीं दूसरी ओर आवास के लिए भी बजट मिलने से कानपुर में पुलिस कर्मियों के लिए नए आवास व कार्यालय बनने का रास्ता भी साफ होगा। 

प्रदेश सरकार ने पूर्व में ही घोषणा की थी कानपुर, रामपुर, मेरठ, बहराइच और आजमगढ़ में एटीएस (एंटी टेररिस्ट स्क्वायड) सेंटर खोले जाएंगे। बाद में इन्हें विकसित करके ट्रेनिंग सेंटर के रूप में प्रयोग में लाया जाएगा। प्रदेश सरकार ने अब बजट में इनके निर्माण के लिए धनराशि जारी कर दी है। कानपुर में अभी एटीएस की इकाई घुड़सवार पुलिस लाइन के एक हिस्से में संचालित हो रही है, जबकि शासन द्वारा घोषणा होने के बाद तत्कालीन जिलाधिकारी आलोक तिवारी ने कुलगांव में खाता संख्या 379 में तीन हजार वर्ग मीटर जमीन एटीएस सेंटर के लिए आरक्षित कर दी थी। हालांकि अभी भूमि की पैमाइश नहीं हुई है, लेकिन भू-अभिलेख में यह जमीन एटीएस सेंटर के रूप में दर्ज हो गई है।

अब बजट मिलने के बाद निर्माण के लिए प्रक्रिया तेज होने की उम्मीद है। वहीं दूसरी ओर बजट में पुलिसकर्मियों के लिए आवास और कार्यालयों के लिए करीब 800 करोड़ का का प्रावधान है। ऐसे में कमिश्नरेट कार्यालय व आवास की उम्मीदें भी जागी हैं। संयुक्त पुलिस आयुक्त ने कहा एक दो दिन में पुलिस मुख्यालय से बजट में कानपुर कमिश्नरेट के लिए क्या है की स्थिति स्पष्ट हो जाएगी।

Edited By: Abhishek Verma